उत्तर प्रदेश

योगी सरकार नवविवाहित जोड़े को देगी ’शगुन किट’

लखनऊ
यूपी में परिवार नियोजन को प्रभावी बनाने को इस बार एक नया प्रयोग किया गया है। अभी तक सास-बहू सम्मेलन होते थे। अब इन सम्मेलनों में सास-बहू संग बेटे भी आएंगे। बेटे सबके सामने अपनी मां और पत्नी की खूबियां गिनाएंगे। अपने गृहस्थ जीवन के अनुभव सुनाएंगे। फिर उन्हें गुब्बारों के जरिए खेल खिलाए जाएंगे। इन्हीं खेलों के जरिए विशेषज्ञ उन्हें परिवार नियोजन के गुर सिखाएंगे इसके साथ ही शगुन किट भी देंगे। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन उत्तर प्रदेश द्वारा मिशन परिवार विकास कार्यक्रम के तहत सांस-बहू सम्मेलन बेटों के साथ, का आयोजन किया जाएगा। इनकी शुरुआत सोमवार को हो गई। यह सिलसिला 20 अक्तूबर तक चलेगा। वर्ष 2017-18 से उपकेन्द्र स्तर पर आशाओं के माध्यम से सास-बहू सम्मेलन का आयोजन किया जाता रहा है। इस वर्ष से पुरुष सहभागिता भी सुनिश्चित की जाएगी। राज्य के 57 जिले उच्च प्रजनन दर के लिए चिन्हित हैं। मिशन निदेशक सुश्री अपर्णा यू. ने यह जानकारी देते हुए बताया कि ‘सास-बहू सम्मलेन बेटे के साथ’ का आयोजन कुल 104821 उपकेन्द्र स्थल पर चरणबद्ध तरीके से किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। सम्मेलन के दौरान विगत एक वर्ष के दौरान चिन्हित नवविवाहित दम्पत्ति को परिवार नियोजन साधनों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने को ’शगुन किट’ का वितरण भी किया जाएगा।

ऐसे दंपत्ति होंगे प्रतिभागी
प्रत्येक सम्मेलन में प्रति आशा के कार्यक्षेत्र से 08-10 परिवार से सास, बेटा एवं बहू प्रतिभागी होंगे। सम्मेलन में विगत एक वर्ष के दौरान नव विवाहित दम्पत्ति, विगत 01 वर्ष के अन्दर उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिला, ऐसे दम्पत्ति जिन्होंने परिवार नियोजन का कोई भी साधन नही अपनाया है, ऐसे दम्पत्ति जिनके 03 या 03 से अधिक बच्चे हैं,  ऐसे आदर्श दम्पत्ति जिनका विवाह से 2 वर्ष बाद पहला बच्चा हुआ हो, जिनके पहले बच्चे से दूसरे बच्चे में कम से कम 03 वर्ष का अन्तराल हो या दम्पत्ति ने दो बच्चों के बाद स्थायी साधन अपनाया हो, को प्राथमिकता देते हुये आमंत्रित किया जाएगा तथा उनके अनुभव भी साझा किए जाएंगे। सम्मेलन में प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन भी होगा। सही जवाब देने वालों को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा।
 

Related Articles

Back to top button
Close