मध्य प्रदेश

खतरे के निशान से ऊपर बह रही नर्मदा, आसपास के गांवों में अलर्ट जारी

सीहोर
लगातार भारी बारिश के चलते मौसम विभाग ने सीहोर जिले को अलर्ट घोषित किया है। सीहोर जिले के नर्मदा तटीय बुदनी, रेहटी, नसरुल्लागंज क्षेत्र के नर्मदा किनारे निचली बस्तियों के 20 से अधिक गावों में लगातार हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त है। लगातार नर्मदा का जलस्तर बढ़ने से खतरे के निशान तक पहुंच गई है, वहीं बरगी और तवा बांध के गेट खोलने से नर्मदा नदी का जलस्तर बढ़ने लगा है। लगातार हो रही बारिश को देखते हुए कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर ने सभी नागरिकों से बाढ़ प्रभावित और जलभराव वाले संभावित निचले स्थानों से सुरक्षित ऊंचे स्थानों की ओर जाने की अपील की है। वहीं चौरसाखेड़ी व डिमावर गांव को खाली कराने की तैयारी की जा रही है। इधर जिले भर में 24 घंटे में चार इंच व सीहोर में छह इंच वर्षा दर्ज की गई है। लगातार वर्षा से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है।

कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि नागरिकों की सुरक्षा को देखते हुए आगामी समय में बाढ़ प्रभावित और जलभराव वाले संभावित स्थानों, ग्रामों के नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जाए। कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने जिले के सभी नागरिकों से अपील की है कि लगातार हो रही वर्षा के कारण जिन पुल, पुलियों, रपटों के ऊपर पर पानी बह रहा हो, उन्हें पार नहीं करें। बहुत आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकले और उन मार्गों से नहीं जाएं जिन मार्गों की नदी नालों पर बने पुलों पर पानी होने के कारण सुरक्षा की दृष्टि से बंद किया गया है। आवश्यक होने पर आवागमन के लिए सुरक्षित मार्गों का उपयोग करें। वहीं कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने 16 और 17 अगस्त को जिले के सभी शासकीय अशासकीय स्कूलों के लिए अवकाश घोषित किया है। साथ आगनबाड़ी की भी छुट्टी के निर्देश दिए हैं।

नीलकंठ में बढ़ा नर्मदा नदी का जलस्तर
बरगी व तवा के गेट खुलने से नीलकंठ गांव खाली कराने की तैयारी में प्रशासन जुटा हुआ है। एसडीएम व तहसीलदार और जनपद पंचायत सीईओ सहित सभी आला अधिकारी मौके पर हैं। लगातार बढ़ते पानी को लेकर प्रशासन ने लिया निर्णय लिया है कि दो साल पहले डूब क्षेत्र में आए गांवों को ऊंचाई वाले स्थानों पर शिफ्ट किया जाए। वहीं पानी बढ़ने के बाद बिगड़ते हालात को लेकर प्रशासन ग्रामीणों को समझाइश दे रहा है।

लगातार कर रहे निरीक्षण
कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर और एसपी मयंक अवस्थी ने बुदनी के ग्राम जैत के नर्मदा घाट का निरीक्षण किया और बाढ़ राहत की व्यवस्थाएं देखी। उल्लेखनीय है कि बरगी बांध तथा तवा बांध से पानी छोड़ा जा रहा है इसके साथ ही जिले में निरंतर हो रही वर्षा के चलते नर्मदा का जल स्तर बढ़ने के कारण होने वाली स्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन की टीम ने सभी तैयारियां कर ली है। कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर प्रभावित क्षेत्रों की खुद पल पल की खबर ले रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close