मध्य प्रदेश

MP के पुलिसकर्मियों को मिलेगी वीकली ऑफ की सौगात

इंदौर
मध्य प्रदेश के पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ (Weekly Off) देने का मामला लंबे समय से चल रहा है, लेकिन अब जल्द ही उनको ये खास सौगात मिलने वाली है. प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन (Home Minister Bala Bachchan) ने आज इंदौर में कहा कि वीकली ऑफ देने की हमारी कार्रवाई पूरी हो चुकी है और अब बहुत जल्दी इस योजना को मूर्त रूप दिया जाएगा.  जबकि इंदौर के प्रभारी और प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने हनी ट्रैप मामले (Honey Trap Case) में पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा का नाम आने पर कहा कि कानून से बढ़ कर कोई व्यक्ति नहीं है. यकीनन कानून के हाथ बहुत लंबे हैं. मध्य प्रदेश में कानून का पालन करवाने की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री कमलनाथ की है और इस मामले में जो भी शामिल होगा उस पर कार्रवाई होगी.

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी ने अपना वचनपत्र घोषित किया था, जिसमें पुलिसकर्मियों (Policemen) के लिए वीकली ऑफ का वादा था. यही नहीं, मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद भी कमलनाथ ने पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक की थी और उसमें वीकली ऑफ का समर्थन किया था.

मध्य प्रदेश में नेताओं और अफसरों को हिला देने वाला हनी ट्रैप मामला करीब 2 महीने बाद फिर सुर्खियों में है. अब बीजेपी सरकार में मंत्री रह चुके लक्ष्मीकांत शर्मा का कथित ऑडियो और वीडियो सामने आया है. वीडियो में शर्मा हनी ट्रैप मामले की आरोपी श्वेता स्वप्निल जैन के साथ दिखाई दे रहे हैं. वीडियो के वायरल होने के बाद गृह मंत्री बाला बच्चन ने मामले की जांच कराने के साथ ही जल्दी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है. उन्‍होंने कहा कि हनी ट्रैप मामले को लेकर सरकार हर एक पहलू पर जांच कर रही है और सरकार की मंशा साफ है, इस मामले में किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा.

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की आज 102वीं जयंती पर इंदौर के नौलखा चौराहे पर लगी इंदिरा प्रतिमा पर जिले के प्रभारी मंत्री बाला बच्चन ने माल्यार्पण कर श्रृद्धांजलि दी और वहां मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सद्भावना की शपथ दिलाई. हालांकि कार्यक्रम में पहुंचे मंत्री को शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल का 15 मिनट तक इंतजार करना पड़ा. कांग्रेस ने इंदिरा गांधी की जयंती पर मंगलवार सुबह 8.15 बजे माल्यार्पण का कार्यक्रम रखा था, लेकिन 8.45 बजे तक कोई बड़ा नेता नहीं पहुंचा. गृह मंत्री जब पौने नौ बजे पहुंचे तो उन्हें शहर कांग्रेस अध्यक्ष का इंतजार करना पड़ा और जब 9 बजे अध्यक्ष आए तब कार्यक्रम शुरू हुआ. इस कार्यक्रम में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी को भी शामिल होना था लेकिन वो भी लेट हो गए और कार्यक्रम खत्म होने के काफी देर बाद पहुंचे.

Related Articles

Back to top button
Close