स्वास्थ्य

जाने पेडीक्योर क्या सच में है ज़रूरी

जब भी पैरों की देखभाल की बात होती है तो सबसे पहले पेडिक्योर का नाम ही आंखों के सामने घूमता है। अमूमन महिलाएं कई बार खुद को पैम्पर करने के लिए भी पेडिक्योर करवाती हैं। पेडिक्योर के बाद पैर यकीनन बेहद खूबसूरत नजर आ सकते हैं, लेकिन अगर आप सोचती हैं कि पेडिक्योर की मदद से आप महज अपने पैरों की खूबसूरती निखार सकती हैं तो, शायद  आप गलत हो सकती हैं। वास्तव में नियमित अंतराल पर पेडिक्योर करवाने से शायद आपको ऐसे कई गजब के लाभ प्राप्त हो सकते हैं। अगर आप भी पेडिक्योर से होने वाले फायदों से अनजान हैं तो चलिए आज हम आपको इसके बारे में बताते हैं।

संक्रमण से बचाव

कई बार पैरों में कई तरह का संक्रमण जैसे कॉर्न्स, गोखरू और फंगल संक्रमण हो जाता है क्योंकि इसकी शुरूआत में किसी का ध्यान उस पर नहीं जाता। लेकिन, जब आप नियमित अंतराल पर पेडिक्योर करती या करवाती हैं तो इससे संक्रमण का शुरूआती चरण में ही पता लग सकता है और फिर इसका इलाज अपेक्षाकृत आसान हो सकता है। इतना ही नहीं, पेडिक्योर के दौरान पैर के नाखूनों को काटा जाता है और उनकी अच्छे से सफाई की जाती है, जिससे संक्रमण का खतरा भी कम हो सकता है।

पेडिक्योर के दौरान पैरों की मसाज की जाती है, जिससे पैरों में रक्त का प्रवाह बेहतर हो सकता है। साथ ही पैरों की मालिश करने से उसमें होने वाले दर्द व तनाव से आराम मिल सकता है और ज्वाइंट्स की मोबिलिटी भी सुधार हो सकती है।

टेंशन से राहत 

आज के समय में महिलाओं को कई प्रकार के तनाव व मानसिक दबाव से गुजरना पड़ता है, लेकिन जब आप पेडिक्योर करवाती हैं तो इससे पैरों को तो आराम मिल सकता है, साथ ही सारी टेंशन भी दूर हो सकती है और आप खुद को काफी रिलैक्स महसूस कर सकती हैं। आपने कभी नोटिस किया हो कि जब आप काफी थकी होती हैं तो गर्म पानी में कुछ देर पैर डालकर बैठ जाती हैं, इससे सारा तनाव और दर्द दूर हो जाता है। पेडिक्योर के दौरान भी गर्म पानी में पैर डालने और मसाज करने से आपका तन-मन रिलैक्स हो सकता है।

फटी एड़ियों से छुटकारा

फटी एड़ियां न सिर्फ देखने में भद्दी लगती हैं, बल्कि कई बार इनमें काफी दर्द हो सकता है और खून भी निकल सकता है। लेकिन जब आप पेडिक्योर करती हैं तो इससे पैर एक्सफोलिएट होते है और डेड स्किन सेल्स भी बाहर निकल सकते हैं। इससे फटी एड़ियों से निजात मिल सकती है। इतना ही नहीं, पेडिक्योर के दौरान पैरों की तेल और लोशन के साथ मसाज की जाती है, जिससे पैरों की नमी बनी रह सकती है और आपको बेहद सुदंर और सॉफ्ट पैर मिल सकते हैं।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Related Articles

Back to top button
Close