बिहार

JDU ने EU प्रतिनिधिमंडल को कश्मीर दौरे की इजाजत देने पर उठाया सवाल

पटना
भाजपा (BJP) की सहयोगी पार्टी जनता दल (यूनाइटेट) ने यूरोपीय संघ (EU) संसद के सदस्यों को कश्मीर का दौरा करने की इजाजत देने को लेकर केंद्र सरकार के फैसले पर बुधवार को सवाल उठाया. जेडीयू ने हैरानगी जताते हुए कहा कि क्या यह (फैसला) इस मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय करने के खिलाफ भारत की नीति के उलट नहीं है और क्या इसके लिये यह उपयुक्त समय है, जबकि देश के सांसद कश्मीर घाटी का दौरा नहीं कर पा रहे हैं. बिहार में भाजपा के साथ सत्तारूढ़ पार्टी के प्रवक्ता पवन वर्मा ने यूरोपीय संघ के 23 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के घाटी के दो दिनों के दौरे पर पार्टी का रुख प्रकट करते हुए यह बात कही.

पूर्व राजनयिक ने कहा, ‘इस दौरे को लेकर कई सारे विरोधाभास हैं. एक ओर जहां भारत इस मुद्दे के अंतरराष्ट्रीयकरण के खिलाफ है, वहीं दूसरी ओर हमने इन सांसदों को उनकी निजी हैसियत के तहत दौरा करने की इजाजत दी. क्या यह उपयुक्त समय है? इन सदस्यों (प्रतिनिधिमंडल में शामिल) के चयन के लिये क्या मानदंड हैं.’

वर्मा ने कहा कि सरकार को कश्मीर में स्थिति जल्द से जल्द सामान्य करने के लिये कदम उठाने चाहिए. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जेडीयू अध्यक्ष पद पर फिर से निर्वाचित होने को पार्टी की राष्ट्रीय परिषद के अनुमोदन के बाद पार्टी प्रवक्ता के.सी. त्यागी ने संवाददाता सम्मेलन में भाजपा के साथ अपने दल का कई मुद्दों पर मतभेद होने का जिक्र किया, लेकिन यह भी कहा कि दोनों पार्टियों के बीच कोई विवाद नहीं है.

त्यागी ने बिहार में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) की भाजपा के कई नेताओं द्वारा मांग किये जाने के विषय पर कहा, ‘लोग खबरों में रहने के लिये हर तरह की टिप्पणी करते हैं.’ उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक एनआरसी सिर्फ असम के लिए है और किसी अन्य राज्य के लिए नहीं है. महाराष्ट्र में सत्ता की साझेदारी को लेकर शिवसेना और भाजपा के बीच रस्साकशी पर उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे नीत पार्टी (शिवसेना), अकाली दल और जेडीयू, भाजपा नीत राजग (NDA) के संस्थापक सदस्य हैं.

साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इसके अध्यक्ष अमित शाह जैसे भगवा पार्टी के शीर्ष नेताओं को सभी विवाद खत्म करने के लिए पहल करनी चाहिए. बिहार में नीतीश कुमार नीत सरकार पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह सहित भाजपा के कुछ नेताओं द्वारा बार-बार प्रहार किये जाने के बारे में पूछे जाने पर त्यागी ने कहा, ‘अन्य नेता क्या कुछ कहते हैं, हम उसे ज्यादा महत्व नहीं देते हैं क्योंकि हमारे लिये भाजपा का मतलब मोदी, शाह जेपी नड्डा, सुशील मोदी और इसकी बिहार इकाई के अध्यक्ष संजय जायसवाल हैं.’

उन्होंने कहा कि जदयू का भाजपा के साथ कुछ वैचारिक मतभेद हो सकता है, लेकिन वह राष्ट्रीय एकीकरण और सेना का समर्थन करने के मुद्दे पर बीजेपी का पूरी तरह से समर्थन करता है. उन्होंने कहा, ‘हम सरकार की विदेश नीति का भी पूरी तरह से समर्थन करते हैं.’

Related Articles

Back to top button
Close