देश

लालकिले पर पहली बार स्वदेशी होवित्जर, 21 तोपों से दी जाएगी सलामी

नई दिल्ली
 
देश अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। इस बार पहली बार लालकिले पर स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान औपचारिक 21 तोपों की सलामी के लिए सरकार की 'मेक इन इंडिया' पहल के तहत स्वदेशी होवित्जर तोप, एडवांस्ड टॉड आर्टिलरी गन सिस्टम (एटीएजीएस) प्रोटोटाइप का उपयोग किया जाएगा। यह प्रदर्शन देश की बढ़ती क्षमता का प्रतीक माना जा रहा है। दरअसल, आजादी के अमृत महोत्सव को प्रदर्शित करने के लिए इस बार कई नई पहल की गई है। रक्षा मंत्रालय के अनुसार परंपरागत रूप से इस्तेमाल की जा रही ब्रिटिश तोप के साथ डीआरडीओ द्वारा डिजाइन और विकसित पूरी तरह से स्वदेशी एटीएजीएस से औपचारिक 21 तोपों की सलामी दी जाएगी। पीटीआई ने बताया कि तोप का उपयोग करने की पहल स्वदेशी रूप से तोपों को विकसित करने की भारत की बढ़ती क्षमता का प्रतीक बनाने के उद्देश्य से की गई है।

अमृत महोत्सव पर एक भारत का संदेश
इस साल स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए विशेष निमंत्रण भेजे गए हैं। लालकिले पर होने वाले मुख्य कार्यक्रम में शामिल होने के लिए देश के सभी जिलों के एनसीसी कैडेटों को आमंत्रित किया गया है। इन कैडेटों को भारत के मानचित्र के भौगोलिक फॉरमेशन में लाल किले की प्राचीर के सामने 'ज्ञान पथ' पर बैठाया जाएगा। वे भारत की सांस्कृतिक विविधता का प्रतीक स्थानीय परिधानों में सुसज्जित होकर 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' के संदेश को प्रसारित करेंगे। समाज के उस वर्ग को विशेष अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है, जिसे आमतौर पर अनदेखा किया जाता है। इनमें आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, रेहड़ी-पटरी वाले, मुद्रा योजना ऋणग्राही व्यक्ति, शवगृह कार्यकर्ता आदि शामिल हैं। उन्हें लालकिले पर मुख्य कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है।

कार्यक्रम में 14 देशों के युवा शामिल होंगे
स्वतंत्रता दिवस समारोह के हिस्से के रूप में पहली बार 9 से 17 अगस्त 2022 के बीच एक विशेष युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम आयोजित किया गया है. समारोह में शामिल होने के लिए 14 देशों अमेरिका, ब्रिटेन, अर्जेंटीना, ब्राजील, फिजी, इंडोनेशिया, किर्गिस्तान, मालदीव, मॉरीशस, मोजाम्बिक, नाइजीरिया, सेशेल्स, यूएई और उज्बेकिस्तान के कुल 26 अधिकारी, पर्यवेक्षक और 127 कैडेट युवा भारत आए हुए हैं। लालकिले पर मुख्य कार्यक्रम में भाग लेने के अलावा, युवा दिल्ली और आगरा में सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक महत्व के स्थानों का दौरा करेंगे। 127 युवाओं का चयन विभिन्न देशों में आयोजित एक राष्ट्रव्यापी प्रतियोगिता के माध्यम से किया गया है, जिसमें लाखों छात्रों ने भाग लिया था।

रक्षा मंत्री सम्मानित करेंगे
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 10 अगस्त 2022 की शाम को एनसीसी, दिल्ली छावनी में युवाओं के साथ संवाद करेंगे। युवा भारतीय कैडेटों के साथ संवाद करने के अलावा रक्षा मंत्रालय, सशस्त्र सेनाओं और एनसीसी के वरिष्ठ अधिकारियों से भी भेंट करेंगे। इस बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 12 अगस्त 2022 को नई दिल्ली में वीर गाथा प्रतियोगिता (सुपर -25) के 25 विजेताओं को सम्मानित करेंगे। 'आजादी का अमृत महोत्सव' के हिस्से के रूप में शुरू की गई अनूठी परियोजनाओं में से एक वीर गाथा का आयोजन सशस्त्र सेनाओं के वीरतापूर्ण कार्यों और बलिदानों के बारे में बच्चों को प्रेरित करने और उनमें जागरुकता फैलाने के लिए किया गया था।

वीर गाथा 2.0 लॉन्च होने के लिए तैयार
21 अक्तूबर से 20 नवंबर, 2021 के बीच आयोजित राष्ट्रव्यापी प्रतियोगिता में 4,788 स्कूलों के आठ लाख से अधिक छात्रों को निबंध, कविताओं, चित्रकारी और मल्टीमीडिया प्रस्तुतियों के माध्यम से प्रेरणादायक कहानियों को साझा करने के लिए प्रोत्साहित किया गया था। कई दौर के मूल्यांकन के बाद 25 छात्रों का चयन कर उन्हें 'सुपर-25' घोषित किया गया। राजनाथ सिंह इन सुपर-25 को नकद पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करेंगे। पहले संस्करण में सफलता के बाद, वीर गाथा 2.0 सितंबर 2022 में लॉन्च होने के लिए पूरी तरह से तैयार है। इस दूसरे संस्करण में छात्रों की एक बड़ी भागीदारी की उम्मीद है।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close