दुनिया

बांग्लादेश में हिंदुओं के साथ भारी हिंसा, मंदिरों को लगातार तोड़ रही है मुस्लिम भीड़, 2 और हिंदुओं की मौत 

ढाका
बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा लगातार जारी है और ऐसा लग रहा है, मानो शेख हसीना की सरकार ने हिंदु अल्पसंख्यकों को मरने के लिए छोड़ दिया है। पूरे बांग्लादेश में हिंदुओं को मारा जा रहा है और मंदिरों को तोड़ा जा रहा है और अलग अलग इलाकों से हिंदुओं के साथ हिंसा की तस्वीरें आ रही हैं। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, 2 और हिंदुओं को बांग्लादेश में मार दिया गया है और कई मंदिरों को पूरी तरह से तोड़ दिया गया है। हिंदुओं से भारी हिंसा पड़ोसी देश में धार्मिक अल्पसंख्यक हिंदु समुदाय के खिलाफ जारी हिंसक हमलों के बीच बांग्लादेश में दो हिंदूओं की मौत हो गई है। समाचार एजेंसी एएफपी ने पुलिस के हवाले से बताया है कि, हिंसा की ताजा घटना दक्षिणी शहर बेगमगंज में हुई, जब 200 से ज्यादा कट्टर मुस्लिमों की भीड़ ने एक मंदिर पर हमला किया।

 ये हमला तब किया गया है, जब हिंदू श्रद्धालु दुर्गा पूजा के अंतिम दिन अंतिम अनुष्ठान कर रहे थे। रिपोर्ट के मुताबिक, स्थानीय थाना प्रमुख शाह इमरान ने कहा कि हमलावरों ने शुक्रवार को मंदिर समिति के एक कार्यकारी सदस्य की चाकू मारकर हत्या कर दी। वहीं अगले दिन पुलिस को मंदिर के बगल में स्थित एक तालाब के पास एक अन्य हिंदू व्यक्ति का शव मिला।

 लगातार हो रहे हैं हमले एएफपी ने जिला पुलिस प्रमुख शाहिदुल इस्लाम के हवाले से रिपोर्ट दी है, कि "कल के हमले के बाद से दो लोगों की मौत हो गई है और हम दोषियों को खोजने के लिए काम कर रहे हैं।" मुस्लिम बहुल देश में हिंदुओं के खिलाफ हमले इस्लाम के केंद्रीय धार्मिक ग्रंथ कुरान के कथित अपमान को लेकर शुरू हुए हैं। कमिला में एक पूजा पंडाल में देवी दुर्गा की मूर्ति के घुटने पर रखे कुरान के कथित तस्वीर वायरल होने के बाद लगातार पूरे देश में हिंदुओं को निशाना बनाया जा रहा है और पूरे बांग्लादेश में मंदिरों को निशाना बनाया जा रहा है। अभी तक सैकड़ों मंदिरों पर हमला किया गया है और उन्हें पूरी तरह से तोड़ दिया गया है। रिपोर्टों से पता चलता है कि, हिंदू विरोधी हिंसा पूरे बांग्लादेश में एक दर्जन से अधिक जिलों में फैल गई है, जिनमें नोआखली, चांदपुर, कॉक्स बाजार, चट्टोग्राम, चपैनवाबगंज, पबना, मौलवीबाजारा और कुरीग्राम शामिल हैं। 

क्या कर रही हैं शेख हसीना? 
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने हिंदू समुदाय के नेताओं से कड़ी कार्रवाई का वादा किया है और हिंदू मंदिरों और दुर्गा पूजा पंडालों पर हमलों में शामिल लोगों को चेतावनी दी है। लेकिन, ऐसा लग रहा है कि, मानो कट्टरवादी मुस्लिमों की भीड़ को प्रधानमंत्री की चेतावनी से कोई मतलब नहीं है। शेख हसीना ने कहा है "कमिला की घटनाओं की पूरी जांच की जा रही है। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे किस धर्म के हैं। उन्हें सजा दी जाएगी"। वहीं, भारत सरकार की तरफ से कहा गया है कि, हिंदू विरोधी हिंसा को लेकर बांग्लादेश के अधिकारियों के साथ संपर्क किया गया है और बांग्लादेश की स्थिति पर नजर रखी जा रही है। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने गुरुवार को कहा कि, "ढाका में हमारा उच्चायोग, साथ ही बांग्लादेश में हमारे वाणिज्य दूतावास, ढाका और स्थानीय स्तर पर अधिकारियों के साथ बहुत निकट संपर्क में हैं।" 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close