छत्तीसगढ़

CM रिलीफCM रिलीफ फंड पर छत्तीसगढ़ में राजनीति, कांग्रेस बोली- 9 सांसदों वाली BJP पैसे क्यों नहीं देती!

रायपुर
छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री सहायता कोष को लेकर सियासत शुरू हो गई है. कोरोना काल में अब सूबे के राजनीतिक दल अपनी रोटियां सेकने से बाज नहीं आ रहे हैं. इसी का नतीजा है कि मुख्यमंत्री सहायता कोष में राशि जमा नहीं करने को लेकर प्रदेश में सियासी उबाल आ गया है. प्रदेश में मुख्यमंत्री सहायता कोष में राशि जमा करवाने को लेकर सूबे की सियासत गरमा गई है. सत्ताधारी दल छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने सीधे बीजेपी के छत्तीसगढ़ के सांसदों पर आरोप लगाते हुए कहा है कि बीजेपी के सांसदों ने प्रदेश में मुख्यमंत्री सहायता कोष में एक रूपए की भी राशि को जमा नहीं किया है.

कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी के प्रदेश में 9 सांसद हैं. लेकिन राज्य के मुख्यमंत्री सहायता कोष में राशि जमा नहीं कर रहे है. कांग्रेस का मानना है कि पीएम केयर्स में राशि जमा करने से सूबे के लोगों की मदद हो सकती है. जनता से वोट लेंगे लेकिन राहत राशि पीएम केयर्स में जमा नहीं करेंगे. मालूम हो कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पिछली 7 मई को अपनी मुख्यमंत्री राहत कोष की जानकारी देते ट्वीट कर बताया था कि 56 करोड से अधिक की राशि कोष में जमा हो चुकी है.

तो वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह का कहना है कि हमारी पार्टी के नेता मिल कर प्रदेश के लोगों की सहायता कर रहे हैं और एक माह का वेतन भी दे रहे हैं. लेकिन मुख्यमंत्री को अभी तक कितानी राशि मिल चुकी है, उस राशि को सार्वजनिक करना चाहिए. वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी का भी कहना है कि इस तरह की बातें फिलहाल अभी इस वैश्विक महामारी के समय नहीं करनी चाहिए. जो राशि जमा की जा रही है वह केन्द्र से राज्य को ही तो मिलेगी. इसमें राजनीति करने की जरूरत नहीं है.  फिलहाल कोरोना वायरस के खिलाफ सभी को मिल जुलकर एक रहने की जरूरत है. सियासत करने के लिए तो ओर भी समय आएगा. बहरहाल अब देखने वाली बात यह होगी कि आगे इस मसले को लेकर सूबे की सियासय में कैसी हलचल होती है.

Related Articles

Back to top button
Close