मध्य प्रदेश

मुख्यमंत्री चौहान महिला स्व-सहायता समूहों को 200 करोड़ रूपये के बैंक ऋण का करेंगे वितरण

समूह की महिलाओं से करेंगे सीधा संवाद
भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 12 अगस्त को स्व-सहायता समूहों की महिलाओं से सीधा संवाद करेंगे। मुख्यमंत्री निवास पर होने वाले इस कार्यक्रम में प्रदेश के विभिन्न जिलों से लगभग 300 समूह सदस्य महिलाएँ भोपाल पहुँचेंगी। मुख्यमंत्री चौहान स्व-सहायता समूहों को लगभग 200 करोड़ रूपये के बैंक ऋण का वितरण भी करेंगे। सभी ग्राम पंचायत से भी स्व-सहायता समूह सदस्य वर्चुअल जुड़ेंगे। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दूरदर्शन सहित क्षेत्रिय चैनल एवं सोशल मीडिया माध्यमों से किया जाएगा।

राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से ग्रामीण क्षेत्रों की निर्धन महिलाओं को स्व-सहायता समूहों से जोड़कर उनका सामाजिक और आर्थिक सशक्तिकरण किया जा रहा है। प्रदेश के 45 हजार ग्रामों में लगभग 3 लाख 84 हजार स्व-सहायता समूहों का गठन किया गया है, जिनसे लगभग 43 लाख परिवार जुड़े हैं। इनमें से लगभग 16 लाख 79 हजार परिवारों को कृषि तथा लगभग 6 लाख 19 हजार परिवारों को अन्य गतिविधियों से जोड़ा गया है।

हाल ही में सम्पन्न पंचायत निर्वाचन में इन स्व-सहायता समूहों के लगभग 17 हजार सदस्य पंच, सरंपच, जनपद एवं जिला पंचायत सदस्य पदों पर निर्वाचित हुए हैं। इनमें 1907 सरपंच, 429 उप सरपंच, 46 जिला पंचायत सदस्य, 381 जनपद सदस्य और 14 हजार 378 पंच बनें हैं। पंचायती राज संस्थाओं में स्व-सहायता समूहों की इतनी बड़ी भागीदारी पहली बार देखने को मिली है।

राज्य सरकार द्वारा स्व-सहायता समूहों को पर्याप्त बैंक ऋण आसानी से दिलवाया जा रहा है। उनके उत्पादों के क्रय-विक्रय के लिये आजीविका मार्ट पोर्टल बनाया गया है। इस पर समूहों के लगभग 6 हजार 700 उत्पाद अपलोड किये गये हैं। अभी तक लगभग 504 करोड़ रूपये का व्यवसाय इन महिलाओं ने पोर्टल से किया है। समूह सदस्य महिलाओं ने 'हर घर तिरंगा अभियान' में भी लगभग 63 लाख तिरंगे तैयार किये हैं। स्कूल गणवेश तैयार करने का कार्य भी स्व-सहायता समूह कर रहे हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close