उत्तर प्रदेश

मुख्तार के खिलाफ शत्रु संपत्ति के मामले में एमपी-एमएलए कोर्ट में आरोप तय

लखनऊ

बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मुख्तार के खिलाफ शत्रु संपत्ति के मामले में एमपी-एमएलए कोर्ट ने आरोप तय कर दिए हैं। इस दौरान मुख्तार अंसारी बांदा जेल से वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए विशेष अदालत के सामने उपस्थित थे। अब इस मामले में अगली सुनवाई 29 अगस्त को होगी। इस मामले में मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी व उमर अंसारी भी आरोपी हैं।

माफिया मुख्तार अंसारी पर एमपी-एमएलए कोर्ट बुधवार को हुई सुनवाई के दौरान आरोप तय कर दिए हैं। उनके खिलाफ शत्रु संपत्ति के केस में कोर्ट ने ये आरोप तय किए हैं। एमपी एमएलए कोर्ट ने मुख्तार को खुद कोर्ट में हाजिर होने पर आरोपों की हस्ताक्षर युक्त कॉपी सौंपने के भी निर्देश दिए हैं।

लेखपाल ने दर्ज कराया था केस
दरअसल पूरा मामला हजरतगंज के डालीबाग का है। जहां शत्रु संपत्ति के मामले में मुख्तार और उसके बेटे अब्बास अंसारी और उमर अंसारी के खिलाफ लेखपाल ने केस दर्ज कराया था।

अब्बास अंसारी की तलाश कर रही पुलिस
इस केस में लेखपाल ने धोखाधड़ी की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कराया था। इसके अलावा मुख्तार के बेटे अब्बास की तलाश लखनऊ पुलिस कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close