उत्तर प्रदेश

CAA संभल बवाल: उपद्रव के बाद मंजर यादकर भर आईं आंखें 

 संभल 
संभल में चौधरी सराय पुलिस चौकी पर आगजनी व तोड़फोड़ के दौरान रास्ते से गुजर रहे लोगों की सांसें थमी रह गईं। जिन लोगों के वाहन पथराव में फंसे उन्होंने किसी प्रकार भागकर जान बचाई। भागते समय कई लोग चोटिल हो गए जबकि उनके वाहन भी टूट गए। घटना के घंटों बाद तक लोग डरे हुए थे और घरों को जाने में डर रहे थे। पुलिस ने कई लोगों ने निजी वाहनों में बैठाकर उनके घरों को भेजा। 

शहर के चौधरी सराय पुलिस चौकी पर रोडवेज बसों में आगजनी और पथराव के दौरान वाहन सवारों की सांसें थमी रह गईं। गांव ईसापुर सुनवारी निवासी मनोज शर्मा पत्नी आभा शर्मा व दो मासूम बेटों के साथ चन्दौसी रिश्तेदारी में जा रहे थे। जब मनोज शर्मा चौधरी सराय पुलिस चौकी पर कार लेकर पहुंचे तो उपद्रवी भीड़ रोडवेज बस में आग लगा चुकी थी जबकि दूसरी बस में तोड़फोड़ की जा रही थी।

इसी दौरान मनोज शर्मा की कार उपद्रवियों के बीचों-बीच फंस गई। मनोज शर्मा किसी प्रकार कार से उतरे और पत्नी व मासूम बेटों को लेकर पुलिस चौकी में घुस गए। मंजर की जानकारी देते समय आभा शर्मा की आंखों में आंसू आ गए जबकि घटना के बाद मासूम बेटे सहम गए। 

पुलिस ने कहीं जाने के लिए मंगाई थी कार

हयातनगर थाना क्षेत्र में सरायतरीन के मोहल्ला कोटला निवासी शाकिर की कार भी पुलिस चौकी के सामने भीड़ के पथराव के निशाने पर आ गई। पथराव में शाकिर की कार के शीशे टूट गए जबकि दर्जनों पत्थर कार के अंदर घुस गए। शाकिर ने बताया कि चौधरी सराय चौकी प्रभारी ने कहीं जाने के लिए उसकी कार मंगाई थी। भीड़ द्वारा पथराव के दौरान उसकी कार क्षतिग्रस्त हो गई। पुलिस चौकी के पास खड़ी एक और कार के पथराव में शीशे टूट गए।  

बेटी को दवा दिलाकर लौट रही महिला, नहीं जुटा पाई घर जाने की हिम्मत

गांव मढ़ावली रसूलपुर निवासी धर्मवती बेटी मीनाक्षी को दवा दिलाने के बाद घर लौट रही थी। जिस समय धर्मवती बेटी के साथ चौधरी सराय पुलिस चौकी पर पहुंची उस समय पुलिस चौकी के बाहर हजारों की तादात में भीड़ थी। सत्यवती ने बताया कि भीड़ ने अचानक पुलिस चौकी पर पथराव शुरू कर दिया। भीड़ बेटी के साथ अभद्रता नहीं कर दे। इस डर से सत्यवती बेटी को लेकर पुलिस चौकी में घुस गई। वहीं सैदनगली निवासी सर्वेश रिश्तेदारी से घर लौट रही थी। वह भी पथराव के दौरान भीड़ में फंस गईं। मामला शांत हो जाने के बाद जब पुलिस अफसर भी मौके पर पहुंच गए। उसके बाद भी महिलाएं पुलिस चौकी से घर जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही थीं। पहले तीनों महिलाएं पुलिस चौकी में खड़ी रही लेकिन लोगों ने साहस बंधाया तो पुलिस चौकी के बाहर बैठ गईं। 

जब वृद्ध को कार में बैठाकर घर भेजा

नखासा थाना क्षेत्र के गांव देहपा निवासी वृद्ध जग्गू सिंह संभल में दवाई लेने आया था। दवाई लेने के बाद जब घर लौट रहा था। इसी दौरान बवाल हो गया। बवाल के बाद पुलिस कर्मियों ने वृद्ध को एक कार में बैठाया और कार व नंबर नोट करने के बाद चालक का नाम मोबाइल नंबर डायरी में लिखा। पुलिसकर्मियों ने चालक से कहा कि अगर वृद्ध को कोई परेशानी होगी तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। 

पुलिस चौकी से मंडी गेट तक दौड़े लोग

चौधरी सराय पुलिस चौकी के पास बस में आग लगा देने के बाद हसनपुर मार्ग की ओर से आ रही रोडवेज बस में सवार यात्री बस में आग लगी देख जान बचाने के लिए उतरकर भागने लगे। बस से उतरकर भागते समय कई महिलाएं व बच्चे सड़क पर गिरकर चोटिल हो गए। लोगों ने भागकर मंडी गेट तक दौड़ लगाई और मंडी में घुस गए। 

Related Articles

Back to top button
Close