उत्तर प्रदेश

41 सेकेंड में हीफुल हो गई स्पेशल राजधानी ट्रेनों की सीटें

कानपुर 
लॉकडाउन में फंसे लोगों को घर पहुंचाने के लिए शुरू की गईं स्पेशल राजधानी एक्सप्रेस पर यात्रियों का भारी दबाव है। रेलवे के आंकड़े बताते हैं कि इन ट्रेनों की सभी सीटें औसतन 36 से 45 सेकेंड के भीतर बुक हो जा रही हैं। मंगलवार को तो भुवनेश्वर, पटना और हावड़ा राजधानी एक्सप्रेस की सीटें 41 सेकेंड में ही बुक हो गईं। जानकारी मिलते ही रेलवे बोर्ड ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

45 सेकेंड से भी कम समय में एक ट्रेन के सभी टिकट बुक होने से रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारी भी हैरान हैं। रेलवे अधिकारियों का मानना है कि इतना समय तो केवल फॉर्म भरने में लग जाता है। टिकटों की सौदेबाजी की आशंका में मामला रेलवे बोर्ड तक पहुंच गया है। आरपीएफ अधिकारियों को जांच के आदेश दिए गए हैं कि इसके पीछे कहीं टिकट का धंधा करने वाले लोग तो नहीं हैं। इस तरह के मामले सामने आए दिल्ली से पटना जाने के लिए अंकेश ने 02310 पटना स्पेशल राजधानी में एसी थ्री का टिकट सुबह 8 बजे ऑनलाइन बनाना शुरू किया। एक मिनट में ही वेटिंग/रिग्रेट होने से टिकट न बना।

एक मिनट में 34 वेटिंग, ले लिया टिकट
दिल्ली से कानपुर आने के लिए संदीप अग्रवाल ने बीते सोमवार को आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर लॉगिन कर 02824 एक्सप्रेस में टिकट बनाने की कोशिश की। लगभग एक मिनट बाद ही 24 मई का टिकट 34 वेटिंग के साथ बना। मजबूरी में कन्फर्म होने की उम्मीद में टिकट बना लिया।

कुछ सेकेंडों में स्पेशल राजधानी के टिकट बुकिंग का मामला रेलवे बोर्ड तक पहुंच गया है। सभी प्रभारियों को यह पता लगाने को कहा गया है कि टिकटों के पीछे कोई गैंग तो नहीं काम कर रहा। दो-चार दिन में स्थिति साफ हो जाएगी। आरपीएफ पोस्टों के प्रभारियों से दो दिन में रिपोर्ट मांगी गई है। -आरएन पांडेय, सहायक सुरक्षा आयुक्त, आरपीएफ

ट्रैवेल एजेंटों ने शुरू कर दी लूट
दूसरी ओर, संकट के इस समय में ट्रैवेल एजेंटों ने लूट शुरू कर दी है। टिकट के लिए दोगुना तक पैसा वसूल रहे हैं।

2500 की जगह 5000 रुपए मांगे
मधु पांडेय की बेटी श्रद्धा ने कानपुर से भुवनेश्वर का ऑनलाइन टिकट बनवाने को ट्रैवेल एजेंट से संपर्क किया तो उसने 5000 मांगे। कानपुर से थर्ड एसी का 2500 रुपए ही है। 1435 पर एजेंट ने मांगे 3000 रुपए मंगलाविहार निवासी राजेश ने कानपुर से पटना के लिए कंफर्म टिकट के लिए एजेंट से संपर्क किया। उसने तीन हजार रुपए मांगे, जबकि कानपुर से पटना का थर्ड एसी का किराया 1435 रुपए ही है।

Related Articles

Back to top button
Close