दुनिया

34,000 फीट ऊपर खतरे में था भारतीय प्लेन, पाक ने यूं बचाया

इस्लामाबाद
भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों में तनाव के बीच गुरुवार को कुछ ऐसा हुआ, जिसकी हर कोई तारीफ करेगा। दरअसल, 150 यात्रियों को लेकर जयपुर से मस्कट जा रहा एक भारतीय प्लेन पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र में बहुत ही खराब मौसम में फंस गया। प्लेन पर आकाशीय बिजली गिर गई और वह अचानक 2 हजार फीट नीचे आ गया। पायलट ने मदद के लिए तुरंत सभी नजदीकी एयर ट्रैफिक कंट्रोलरों के पास अलर्ट भेजा। विमान को खतरे में देख एक पाकिस्तानी एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (ATC) तुरंत हरकत में आया और उसे हादसे का शिकार होने से बचा लिया। आपको बता दें कि गुरुवार को पाकिस्तान में मौसम इतना ज्यादा खराब था कि उस दिन आकाशीय बिजली गिरने से 20 लोगों की मौत हो गई थी।

खतरे में थी 150 से ज्यादा लोगों की जान
पाकिस्तान सिविल एविएशन अथॉरिटी के एक एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (ATC) की सतर्कता ने करीब 150 यात्रियों को ले जा रहे एक भारतीय प्लेन को हादसे का शिकार होने से बचा लिया। भारतीय विमान के पायलट से आपात संदेश मिलने के बाद पाकिस्तानी ATC तुरंत हरकत में आया और विमान को सुरक्षित रास्ता बताया।

बहुत ही खराब मौसम में फंस गया था विमान
जयपुर से ओमान की राजधानी मस्कट जाने वाले विमान के पायलट ने खराब मौसम के कारण यह संदेश जारी किया था। विमानन प्राधिकरण से जुड़े सूत्रों ने बताया कि दक्षिणी सिंध प्रांत के चोर इलाके में विमान बहुत ही खराब मौसम में फंस गया। 'द न्यूज इंटरनैशनल' की एक खबर के अनुसार विमान में 150 यात्री सवार थे। विमान गुरुवार को कराची क्षेत्र के ऊपर से उड़ान भर रहा था तभी वह आकाशीय बिजली की चपेट में आ गया। विमान अचानक 36,000 फुट की ऊंचाई से गिरकर 34,000 फुट की ऊंचाई पर आ गया। नतीजतन पायलट ने आपात प्रोटोकॉल जारी किया और पास के स्टेशनों को 'खतरे' की सूचना दी।

ATC ने भारतीय विमान को पाक एयरस्पेस से सुरक्षित निकाला
पाकिस्तान के एयर ट्रैफिक कंट्रोलर ने पायलट की चेतावनी पर तुरंत प्रतिक्रिया की और आसपास के क्षेत्र में विमान को बाकी के सफर के लिए पाकिस्तानी एयर स्पेस में घने हवाई यातायात के माध्यम से निर्देशित किया। एटीसी ने भारतीय विमान को तबतक रास्ता बताया जबतक वह पाकिस्तान की हवाई सीमा से सुरक्षित बाहर नहीं निकल गया।

पुलवामा हमले के बाद से ही भारत-पाक में तनाव
आपको बता दें कि इस साल भारत के साथ गतिरोध के मद्देनजर करीब 5 महीने के प्रतिबंध के बाद पाकिस्तान ने 16 जुलाई को अपने हवाई क्षेत्र भारत के लिए खोल दिए थे। बालाकोट हवाई हमले के बाद पाकिस्तान ने 26 फरवरी को अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया था। कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म किए जाने को लेकर पिछले महीने पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी यात्रा के मद्देनजर उनके वीवीआईपी विमान के लिए अपने हवाईक्षेत्र के इस्तेमाल से इनकार कर दिया था। 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को हटाए जाने और उसे 2 केंद्र शासित क्षेत्रों में बांटने के भारत के फैसले के बाद पाकिस्तान ने राजनयिक संबंध भी घटा दिए थे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close