खेल - कूद

24 साल में पहुंचा ODI, T20I महज 14 साल में बना हजारी

नई दिल्ली
भारत और बांग्लादेश के बीच दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम पर खेला गया टी20 इंटरनैशनल मैच दो बड़ी वजह से ऐतिहासिक रहा। पहला, बांग्लादेश ने इस प्रारूप में पहली बार भारतीय टीम को हराया। और दूसरा यह टी20 इंटरनैशनल का 1000वां मुकाबला था। भारत ने पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर छह विकेट पर 148 रन बनाए जवाब में बांग्लादेश ने तीन विकेट पर 154 रन बनाकर मैच जीत लिया।

कब खेला गया था पहला टी20 इंटरनैशनल, महज 14 साल में 1000
क्रिकेट में लोगों की लोकप्रियता को बनाए रखने के लिए इसकी रफ्तार को बढ़ाने की जरूरत महसूस की गई। इसी कोशिश में आईसीसी ने टी20 प्रारूप को बढ़ाने का फैसला किया। पहले टी20 इंटरनैशनल की बात करें तो 17 फरवरी 2005 को न्यू जीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और अपने कप्तान रिकी पॉन्टिंग के नाबाद 98 रनों की बदौलत 20 ओवरों में पांच विकेट पर 214 रनों का विशाल स्कोर बनाया। जवाब में न्यू जीलैंड की टीम 20 ओवरों में 170 रनों पर ऑल आउट हो गई। ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच 44 रनों से जीता।

किस टीम ने खेले हैं सबसे ज्यादा टी20 मुकाबले
अगर देखा जाए तो पाकिस्तान की टीम ने सबसे ज्यादा टी20 इंटरनैशनल मुकाबले खेले हैं। पाकिस्तान की टीम ने 147 मुकाबले खेले हैं, 90 में उन्हें जीत मिली है, 53 मैच हारे हैं और 3 मैच टाई रहा है। एक टाई मैच भारत के खिलाफ पहले टी20 वर्ल्ड कप (2007) था, जिसमें भारत ने बॉल आउट से मुकाबला जीता था। वहीं न्यू जीलैंड ने 123 टी20 इंटरनैशनल मुकाबले खेले हैं जिसमें से 60 जीते हैं और 55 हारे हैं। वहीं भारत ने 121 में 74 में जीत हासिल की है और 43 हारे हैं और 1 मैच टाई रहा है। श्रीलंका ने 123 टी20 इंटरनैशनल मैच खेले हैं और वह इस लिस्ट में चौथे पायदान पर है।

104 देश खेलते हैं टी20 इंटरनैशनल
बीते साल 26 अप्रैल में आईसीसी ने अपने सभी मेम्बर्स को टी20 इंटरनैशनल का दर्जा दे दिया था। इसमें 104 देशों की पुरुष और महिला टीमें शामिल थीं। हालांकि आईसीसी की टेस्ट चैंपियनशिप में अभी 9 ही देश खेलते हैं।

वनडे को लगे 24 साल
क्रिकेट के परंपरागत रूप में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहला बदलाव वनडे क्रिकेट के रूप में आया। पहला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबला ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच 5 जनवरी 1971 में खेला गया। 40 ओवरों के इस मैच में इंग्लैंड ने 190 रन बनाए और ऑस्ट्रेलिया ने 34.6 ओवरों में 5 विकेट पर 191 रन बनाकर मैच जीत लिया। उस दौर में एक ओवर में 8 गेंद फेंकी जाती थीं।

असल में यह एक टेस्ट मैच होना था लेकिन बारिश के कारण यह धुल गया। अब दर्शकों की भरपाई करने के लिए 40 ओवरों का एक मैच खेला गया लेकिन इससे पहले ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड के तत्कालीन अध्यक्ष डॉन ब्रैडमैन और एमसीसी के प्रेजिडेंट क्रिल हॉक के बीच कई बैठकें हुईं। और आखिरकार इस मैच को आधिकारिक मैच का दर्जा देने पर सहमति बनी।

इस मैच को देखने के लिए मेलबर्न के मैदान पर 46006 दर्शक मौजूद थे। गौरतलब है कि क्रिकेट के इतिहास का पहला टेस्ट मैच भी इन्हीं दोनों टीमों के बीच इसी मेलबर्न के मैदान पर ही खेला गया था। 1000 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबला 24 मई 1995 को इंग्लैंड और वेस्ट इंडीज के बीच खेला गया था। 55 ओवरों के इस मैच में इंग्लैंड ने 9 विकेट पर 199 रन बनाए थे और वेस्ट इंडीज ने 53वें ओवर में 5 विकेट पर 201 रन बनाकर मैच जीत लिया था।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close