मध्य प्रदेश

स्वच्छता के प्रति जागरूक रहकर डेंगू की रोकथाम में सहयोग करें नागरिक

भोपाल

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने आज भोपाल शहर के डेंगू प्रभावित भेल क्षेत्र के साकेत नगर का दौरा किया। उन्होंने नागरिकों से घर एवं कॉलोनी में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखते हुए डेंगू और मलेरिया की रोकथाम में सहयोग करने का आग्रह किया। सिलावट ने कलेक्टर तरुण पिथोड़े और नगर निगम आयुक्त बी. विजय दत्ता के साथ करीब 2 घंटे प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया।

मंत्री सिलावट ने डेंगू प्रभावित क्षेत्र में मकानों की पानी की टंकियों का निरीक्षण किया और रहवासियों को टंकियों को ढंकने की समझाइश दी। उन्होंने बताया कि एडीज़ मच्छर डेंगू की बीमारी फैलाते हैं। ये मच्छर रुके और साफ पानी में पैदा होते हैं। उन्होंने नागरिकों को डेंगू और मलेरिया बीमारी से बचाव के ब्रोशर वितरित किये। सिलावट ने बताया कि भोपाल के 5 सरकारी अस्पतालों एम्स, बीएमएचआरसी, गाँधी मेडिकल कॉलेज, सिविल अस्पताल, बैरागढ़ और जे.पी. अस्पताल में डेंगू और चिकुनगुनिया की एलाईजा आधारित जाँच की नि:शुल्क व्यवस्था की गई है। उन्होंने नागरिकों से सफाई व्यवस्था और फॉगिंग मशीन की सेवाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। सिलावट डेंगू प्रभावित मरीजों से भी मिले और उपचार व्यवस्था की जानकारी प्राप्त की।

जागरूकता अभियान पर जोर

मंत्री सिलावट ने नागरिकों को बताया कि डेंगू और मलेरिया की रोकथाम के लिये स्वयंसेवी संगठनों की मदद से भोपाल शहर में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने अभियान में नागरिकों की भागीदारी की आवश्यकता बताई। सिलावट ने नगर निगम अमले को कॉलोनियों में खाली पड़े प्लाटों के मालिकों को नोटिस जारी करने और आर्थिक दण्ड की कार्रवाई करने के निर्देश दिये। सिलावट ने बताया कि भोपाल में डेंगू नियंत्रण के लिये 85 वार्डों को 19 जोन में बाँटा गया है। इनमें से 14 जोन डेंगू से अधिक प्रभावित क्षेत्र हैं। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने इन क्षेत्रों में फॉगिंग मशीन की गतिविधियों को तेज करने के निर्देश दिये।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close