देश

सामान्य नहीं थी गतिविधि, पर चिंता की बात नहीं, लद्दाख सीमा पर चीनी हेलीकॉप्टरों के दिखने पर बोले वायु सेना प्रमुख

नई दिल्ली 
लद्दाख में एलएसी के पास चीनी हेलीकॉप्टरों के एयरस्पेस उल्लंघन को लेकर वायु सेना चीफ आरकेएस भदौरिया ने कहा है कि इन मुद्दों पर चिंता की कोई जरूरत नहीं है। जब भी इस तरह का प्रयास होता है भारतीय वायुसेना निपटती है और जरूरी कदम उठाती है।

वायुसेना प्रमुख ने एएनआई से बातचीत में कहा, ''जो गतिविधि देखी गई थी जो सामान्य नहीं थी। जब भी इस तरह की घटना होती है हम करीब से निगरानी करते हैं और जरूरी कदम उठाते हैं। इन मुद्दों पर अनुचति चिंता करने की जरूरत नहीं है। जब भी वायुक्षेत्र का उल्लंघन होता है, इससे निपटा जाता है।'' 
 
गौरतलब है कि कोरोना वायरस संकट के बीच चीन ने लद्दाख के पास वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अपनी नापाक हरकतें तेज कर दी हैं। पिछले दिनों चीन ने लद्दाख के पास एलएसी पर हिमाकत दिखाई। एलएसी के पास चीनी हेलिकॉप्टरों को देखा गया। इसके बाद भारतीय वायुसेना ने चीनी विमानों को जवाब देने के लिए लड़ाकू विमानों की तैनाती कर दी है। यह घटना पिछले हफ्ते करीब उसी वक्त घटी, जब चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच नॉर्थ सिक्किम में टकराव हुआ था। इस टकराव में दोनों ओर के सैनिकों को हल्की चोटें आई थीं।

सरकारी सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया था, 'चीनी सैन्य हेलिकॉप्टर वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के काफी करीब से उड़ान भर रहे थे। उनके विमानों की गतिविधि पता चलने के बाद भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान ने इलाके में गश्त लगाई।'' 

चीन की यह हिमाकत ऐसे वक्त में आई है, जब भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने यह पाया है कि हंदवाड़ा एनकाउंटर के बाद पाकिस्तान ने सीमा पर एफ-16 एस और जेएफ-17 एस लड़ाकू विमानों के साथ अपनी गश्ती बढ़ा दी है। ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तान को यह डर सता रहा है कि हंदवाड़ा का बदला लेने के लिए भारत संभावित जवाबी कार्रवाई कर सकता है। बता दें कि हंदवाड़ा में भारतीय सेना के 5 जवान शहीद हो गए थे। 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close