साइंस - टेक्नोलॉजी

विंडोज 10 ऑपरेटिंग सिस्टम में बड़ी खामी

अगर आप कंप्यूटर में Windows 10 ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं, तो आपके लिए चिंता वाली खबर है। द सन की एक रिपोर्ट के अनुसार विंडोज 10 ऑपरेटिंग सिस्टम में बड़ी खामी पाई गई है। खतरे को देखते हुए कंपनी यूजर्स को विंडोज 10 तुरंत अपडेट करने की सलाह दे रही है। इस गड़बड़ी का फायदा उठाकर शातिर हैकर विंडोज 10 पर काम करने वाले किसी भी कंप्यूटर को हैक करके उसमें मौजूद जरूरी फाइल्स को डिलीट कर सकते हैं।

16 खामियां थीं क्रिटिकल
माइक्रोसॉफ्ट ने हाल में एक अपडेट रोलआउट किया था, जिसमें विंडोज 10 की 100 खामियों को ठीक किया गया था। इनमें से 16 खामियां ऐसी थीं जिन्हें कंपनी ने क्रिटिकल कैटिगरी में रखा था। रिपोर्ट्स की मानें तो इनमें से दो सबसे बड़ी खामियां माइक्रोसॉफ्ट कलर मैनेजमेंट और विंडोज मीडिया फाउंडेशन से जुड़ी हैं। सिस्टम में मौजूद इन गड़बड़ियों का फायदा उठाकर हैकर्स किसी भी कंप्यूटर के डेटा को देख सकते हैं, फाइल्स को बदल सकते हैं और अपनी मर्जी के मुताबिक किसी भी वायरस वाले प्रोग्राम को सिस्टम में इंस्टॉल भी कर सकते हैं।

वायरस वाली वेबसाइट से होता है खेल
इस गड़बड़ी के कारण हैकर सिस्टम में एक नया विंडोज 10 अकाउंट भी क्रिएट कर सकते हैं। माइक्रोसॉफ्ट कलर मैनेजमेंट में आई गड़बड़ी के बारे में बात करते हुए इसके डिवेलपर्स ने कहा कि कोई भी हैकर वेब बेस्ड अटैक से यूजर्स को वायरस वाली वेबसाइट खोलने के लिए तैयार कर सकता है। ऐसा करने से सिस्टम में वायरस पहुंच जाता है और यूजर्स को इसके बारे में पता भी नहीं चलता।

ईमेल या इंस्टैंट मेसेंजर से भेजा जाता है फर्जी लिंक
इस तरह के अटैक में हैकर यूजर्स को ईमेल या इंस्टैंट मेसेंजर से एक लिंक भेजते हैं। इस लिंक में एक फर्जी url होता है। इस यूआरएल पर क्लिक करते ही यूजर्स को वायरस वाली वेबसाइट पर रीडायरेक्ट कर दिया जाता है। कंपनी ने विंडोज मीडिया फाउंडेशन की गड़बड़ी के बारे में कहा कि इस खतरे के कारण साइबर क्रिमिनल्स विंडोज 10 पर काम करने वाले कंप्यूटर में कई तरह की दिक्कत पैदा कर सकते हैं। हैकिंग के जाल में यूजर्स को फंसाने के लिए ये शातिर हैकर फर्जी लिंक्स पर क्लिक करने के लिए यूजर्स को मना लेते हैं।

कुछ खामियों को किया गया ठीक
कंपनी ने मंगलवार को जो सिक्यॉरिटी पैच रोलआउट किया है उसमें इंटरनेट एक्सप्लोरर, EdgeHTML, चक्र कोर और शेयरपॉइंट की खामियों की ठीक किया गया है। शेयरपॉइंट की गड़बड़ी का फायदा उठाकर हैकर सिस्टम में मौजूद डेटा को ऐक्सेस और डिलीट कर सकते थे।

Related Articles

Back to top button
Close