छत्तीसगढ़

लोक निर्माण मंत्री साहू ने ली विभागीय अधिकारियों की बैठक : जनता की सुविधा के लिए कार्य करने की दी नसीहत

    रायपुर

लोक निर्माण मंत्री  ताम्रध्वज साहू ने आज राजनांदगांव जिले की पहली विभागीय बैठक में अधिकारियों को आम जनता की सुविधा के लिए कार्य करने की नसीहत दी। मंत्री  साहू ने कहा कि विभाग के काम आम जनता की बुनियादी सुविधाओं से जुड़े हुए हैं। विकास कार्य ऐसे हो जिससे आम जनता को सुविधा मिले। उन्होंने भेदभाव की प्रवृŸिा से हटकर सभी क्षेत्रों के समन्वित विकास पर जोर दिया।  साहू ने कहा कि डीपीआर के अनुसार ही सड़कों, भवनों और पुल-पुलियों का निर्माण किया जाना चाहिए। डीपीआर बनाते समय इस बात का ध्यान रखा जाए ताकि रिवाईज एस्टीमेंट बनाने की जरूरत न पड़े। रिवाईज एस्टीमेंट बनाने का चलन कम होना चाहिए।  साहू ने कहा कि इसके लिए विभागीय कार्य संस्कृति में बदलाव लाने की आवश्यकता है।

    लोक निर्माण मंत्री साहू ने कहा कि विभागीय काम-काज की गुणवŸाा परखने ही वे सड़क मार्ग से पूरे प्रदेश का दौरा करने के बाद अधिकारियों की बैठक ले रहे हैं। दौरे से विभाग द्वारा किए गए विकास कार्यों को प्रत्यक्ष रूप से देखने का मौका मिल रहा है। विकास कार्यों में गुणवŸाा सर्वोपरी है। इसके साथ ही निर्धारित समय पर कार्य पूरे होने चाहिए तभी जनता को विकास कार्यों का लाभ मिलेगा। गुणवŸाा में किसी प्रकार का भी समझौता नहीं होना चाहिए। बैठक में विभिन्न डिवीजनों के अधिकारियों ने सड़कों, भवनों और पुल-पुलियों की प्रगति की जानकारी दी।  

    मंत्री  साहू ने बरसात के बाद सड़कों की मरम्मत की प्रगति की विशेष रूप से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मरम्मत कार्य भी गुणवŸाा के साथ होना चाहिए। मरम्मत के तुरंत बाद सड़क खराब होने की शिकायत मिलने पर संबंधितों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।  साहू ने विभाग द्वारा बनाए गए विभिन्न विभागों के भवनों को तुरंत हैण्डओव्हर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पेंच वर्क में भी गारंटी होनी चाहिए।

    इस अवसर पर मंत्री  साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने विभाग में आय के óोत बढ़ाने के निर्देश दिए है। इसके लिए लोक निर्माण विभाग की ऐसी जमीनों का चिन्हांकन किया जाए, जहां की खाली जगह पर व्यावसायिक उपयोग के उद्देश्य से अधोसंरचना बनाई जाए। उन्होंने इसके लिए आगामी 15-20 दिन के भीतर प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए।  साहू ने विभाग के कर्मचारियों खासकर छोटे कर्मचारियों के मरम्मत योग्य भवनों की मरम्मत कराने के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जर्जर हो चुके आवासीय परिसरों को तोड़कर उस जगह पर बहुमंजिले आवासीय परिसर बनाने का प्रस्ताव बनाया जाए। शेष जमीन पर व्यावसायिक परिसर विकसित कर आय के óोत बनाए जा सकते हैं।

    मंत्री  साहू ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में गांवों से लगे छोटे-छोटे नालों में पुल-पुलिए बनाने के कार्य का प्राथमिकता देने के निर्देश दिए। ऐसे नालों से बरसात के दिनों में बच्चों को स्कूल आने-जाने में असुविधा होने की शिकायतें मिलती रहती है। बैठक में राजनांदगांव के दिग्विजय स्टेडियम में निर्माण की प्रगति पर अधिकारियों ने बताया कि स्टेडिमय के अधूरे बास्केटबॉल कोर्ट और बेडमिंटन कोर्ट को पूरा करने कार्रवाई की जा रही है।

इस अवसर पर खुज्जी विधायक मती छन्नी साहू, डोंगरगढ़ विधायक  भुनेश्वर बघेल, जिला पंचायत राजनांदगांव की अध्यक्ष मती चित्रलेखा वर्मा, पुलिस उप महानिरीक्षक राजनांदगांव रेंज  रतन लाल डांगी, कलेक्टर  जयप्रकाश मौर्य, पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव  बीएस धु्रव सहित पुलिस-प्रशासन के अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close