खेल - कूद

रोहित शर्मा ने बताया, उस पारी के दौरान युवराज सिंह चाह रहे थे कि मैं वीरेंद्र सहवाग का रिकॉर्ड तोड़ दूं

 नई दिल्ली 
भारत के महान बल्लेबाज मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के नाम वनडे क्रिकेट का पहला दोहरा शतक लगाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है। सचिन के इस रिकॉर्ड के बाद उनके सलामी जोड़ीदार वीरेंद्र सहवाग ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दोहरा शतक जड़कर इस खास लिस्ट में जगह बनाई। इसके बाद भारत के एक और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने यह खास रिकॉर्ड एक बार नहीं बल्कि तीन-तीन बनाकर अपने नाम इतिहास में दर्ज करवाया। उनके नाम वनडे का सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर (264) भी दर्ज है जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ बनाया है। हिटमैन रोहित शर्मा ने अपने पहले दोहरे शतक से जुड़े हुए एक किस्से को बताया है जब युवराज सिंह चाहते थे कि मैं वनडे में वीरेद्र सहवाग द्वारा एक पारी में बनाए गए सबसे अधिक रनों के रिकॉर्ड को तोड़ दूं।
 
रोहित शर्मा की धमाकेदार पारी से भारत ने जीती थी सीरीज 
रोहित शर्मा ने ऑफ स्पिनर आर अश्विन के साथ इंस्टाग्राम चैट में बताया कि 2013 में जब मैंने पहली बार बेंगलुरु में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ करियर का पहला वनडे दोहरा शतक जड़ा था तो युवराज सिंह की उनसे उम्मीद काफी बढ़ गईं थीं। रोहित शर्मा ने 2 नवंबर 2013 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरु वनडे में 209 रनों की पारी खेली थी। रोहित ने अपनी पारी के दौरान 12 चौके और 16 छक्के लगाए थे। रोहित शर्मा की इस पारी के चलते भारत ने उस वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 3-2 से हराया था। अपनी इस पारी के दौरान रोहित शर्मा मात्र 11 रन से वनडे का व्यक्तिगत स्कोर बनाने से चूक गए थे।
 
मेरी पारी से युवी-धवन की बढ़ गईं थीं उम्मीदें
उनसे पहले वीरेंद्र सहवाग ने 8 दिसंबर 2011 को वेस्टइंडीज के खिलाफ इंदौर में खेलते हुए वनडे मैच में 219 रन बनाए थे। सहवाग ने अपनी पारी के दौरान 25 चौके और 7 छक्के जड़े थे। भारत ने इस मैच में वेस्टइंडीज को 153 रनों से हराया था। रोहित शर्मा ने बताया कि जब वो डबल सेंचुरी मारकर पवेलियन जा रहे थे तो उनसे किसी ने कहा कि यदि आप एक ओवर और बल्लेबाजी कर लेते तो आप वीरेंद्र सहवाग का रिकॉर्ड तोड़ देते। जब आप ऐसी पारी खेलते हो उस समय ड्रेसिंग रूप की उम्मीदें आपसे काफी बढ़ जाती हैं। उस समय ड्रेसिंग रूप में 3-4 लोग मुझसे उम्मीद कर रहे थे कि मैं एक ओवर और बल्लेबाजी करता। युवराज सिंह उनमें से एक थे और शायद शिखर धवन भी। 
 

Related Articles

Back to top button
Close