मध्य प्रदेश

यह सरकार के प्रति आक्रोश की चरम अभिव्यक्ति- नरोत्तम मिश्रा

भोपाल
 मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के और कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह द्वारा उनके बंगले पर किए गए प्रदर्शन पर पूर्व कैबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बड़ा हमाला बोला है। उन्होंने कहा कि आखिर ऐसी क्या जरूरत आन पड़ी जो भाई को भाई के बंगले पर धरने पर बैठना पड़ रहा। यह कांग्रेस सरकार के प्रति आक्रोश की चरम अभिव्यक्ति है।

उन्होंने कहा कि, यह आक्रोश की चरम अभिव्यक्ति है। विधायकों को सांसद और मुख्यमंत्री से मिलने के लिए समय लेना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि लक्ष्मण जी को भी लक्ष्मण रेखा लांगनी पड़ रही है। एक विधायक को सीएम से मिलने के लिए धरना देना पड़ रहा है। लक्ष्मण जी के धरने से एक बात भी साफ हो गई कि मुख्यमंत्री झूठी घोषणा करते हैं। एक भाई को भाई से मिलने के लिए धरना देना पड़ रहा है। यह कांग्रेस में हो क्या रहा है। इससे कांग्रेस की आंतरिक स्थिति का भी पता चल रहा है। ऐसा नहीं है कि लक्ष्मण जी ने पहली बार कोई अभिव्यकित की हो, मैं तो उनकी बातों का समर्थक हूं। इससे पहले भी उन्होंने राहुल गांधी को माफी मांगने के लिए कहा था।

गौरतलब है कि गुना जिले की चाचौड़ा तहसील को जिला बनाने के लिए लक्ष्मण सिंह ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने मंगलवार को दिग्विजय सिंह के बंगले का बाहर धरना प्रदर्शन कर अपनी मांग की। उनके साथ सैंकड़ों की संख्या में समर्थक भी पहुंचे थे। अब इस मामले पर राजनीति शुरू हो गई है। विपक्ष को घर बैठे इस मुद्दे को भुनाने का मौका मिल गया है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close