देश

मौसम अपडेट: कोहरे की चादर में लिपटी दिल्ली, दो दिन और सताएगी बफीर्ली हवाएं, बारिश का भी अनुमान 

 नई दिल्ली 
बफीर्ली हवाओं और कोहरे ने दिल्ली-एनसीआर के लोगों को कंपकंपा दिया है। मौसम विभाग के अनुसार, दो दिन सर्दी और सताएगी। शुक्रवार रात या शनिवार सुबह बूंदाबांदी का भी अनुमान है। वहीं, मौसम विभाग ने जम्मू-कश्मीर और हिमाचल में शुक्रवार को हल्की बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई है। हालांकि हिमाचल के रोहतांग दर्रे समेत पहाड़ों पर कहीं-कहीं हल्की बर्फबारी भी हुई। मौसम विभाग के अनुसार, एक बार फिर से पहाड़ों के अलावा मैदानी इलाकों के तापमान में गिरावट देखने को मिल सकती है।

दिल्ली में सबसे सर्द सुबह: गुरुवार सुबह तापमान गिरकर 5.2 डिग्री तक पहुंच गया। यह सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस कम है। दिल्ली के लिए यह मौसम की सबसे ठंडी सुबह रही। वहीं, अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से सात डिग्री कम है। उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हुई बर्फबारी से भी ऐसा मौसम बना हुआ है।

मौसम विभाग के अनुसार, गुरुवार को ‘सीवियर कोल्ड डे' की श्रेणी में रखा गया है। सामान्य से काफी कम तापमान दर्ज होने पर ऐसा होता है।

100 मीटर रही दृश्यता : दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में सुबह के समय घना कोहरा छाया रहा। मौसम विभाग के मुताबिक, पालम केंद्र में दृश्यता का स्तर 100 मीटर तक रहा। मौसम विभाग का अनुमान है कि शुक्रवार की सुबह भी ऐसा ही घना कोहरा देखने को मिल सकता है।

अगले चौबीस घंटे का मौसम:

अगले 24 घंटों के दौरान संभावित मौसम

अगले 24 घंटों के दौरान पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पश्चिम उत्तर प्रदेश में कोल्ड डे कंडीशंस जारी रहने की संभावना है।
न्यूनतम तापमान में और गिरावट हो सकती है और कुछ स्थानों पर शीतलहर का प्रकोप जारी रह सकता है। उत्तर प्रदेश, बिहार और उत्तर मध्य प्रदेश के आसपास के हिस्सों में भी कोल्ड डे कंडीशंस बनी रहेगी।
जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात होने की संभावना है। साथ ही, भारी बारिश से इंकार नहीं किया जा सकता है।
अरुणाचल प्रदेश, पूर्वी असम और नागालैंड में हल्की बारिश होने की संभावना है। सहत ही तमिलनाडु और आसपास के राज्यों में हल्की बारिश होने की उम्मीद है।
कश्मीर और हिमाचल में आज बर्फबारी की संभावना

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, जम्मू और कश्मीर में शुक्रवार को कई स्थानों पर हल्की बर्फबारी और बारिश होने की संभावना है। इसके बाद दिसंबर अंत तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। अधिकारी ने कहा कि शून्य से 14.4 डिग्री सेल्सियस कम तापमान के साथ द्रास लद्दाख का सबसे ठंडा स्थान रहा। बीती रात यहां का तापमान शून्य से 27.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। जम्मू, कश्मीर और लद्दाख में बुधवार को रात भर मौसम शुष्क और ठंडा बना रहा, लेकिन घने बादल छाए रहने के कारण न्यूनतम तापमान में एक से 13 डिग्री सेल्सियस तक वृद्धि देखी गई। 

कोहरे और घने बादल देखने को मिली
अधिकारी के अनुसार, 4.8 डिग्री सेल्सियस के साथ बुधवार की रात इस मौसम की सबसे ठंडी रात रही जिसके बाद जम्मू में चार डिग्री सेल्सियस की वृद्धि के साथ तापमान 8.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि गुरुवार की सुबह भारी कोहरे और घने बादल देखने को मिली।

श्रीनगर में तापमान शून्य से 2.3 डिग्री
श्रीनगर में तापमान शून्य से 2.3 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। एक अधिकारी ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग का प्रसिद्ध स्की रिसोर्ट घाटी का सबसे ठंडा स्थान रहा जहां तापमान चार डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी के बाद भी न्यूनतम तापमान 7.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं वैष्णो देवी तीर्थस्थल जाने के लिए बेस कैंप कटरा में रात में तापमान 5.0 डिग्री सेल्सियस रहा। 
 
हिमाचल में केलोंग राज्य में सबसे ठंडा स्थान 
शिमला। हिमाचल प्रदेश के अधिकांश भागों में गुरुवार को बादल छाए रहे और मौसम सूखा रहा। केलोंग और कल्पा में तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने 21 दिसंबर तक राज्य में भारी वर्षा और हिमपात का अंदेशा जताया है।

रोहतांग दर्रे समेत पहाड़ों पर हल्की बर्फबारी 
जिला कुल्लू व लाहुल-स्पीति के बीच स्थित रोहतांग दर्रे समेत पहाड़ों पर हल्की बर्फबारी शुरू हो गई है। इससे समूचा प्रदेश ठंड की चपेट में है। चार दिन के बाद एक बार फिर मौसम ने करवट बदल ली है। लाहुल घाटी में भी हिमपात शुरू हो गया है, जबकि मनाली में संभावना बढ़ गई है। लाहुल की समस्त घाटी में जबकि मनाली की ओर कोठी व सोलंग तक बर्फ के फाहे गिर रहे हैं। 

पिंडर घाटी के गांवों में बर्फबारी से आवागमन की दिक्कत
बागेश्वर। पिंडर घाटी के गांव एक सप्ताह पहले हुई बर्फबारी से लकदक हैं। जमीन से लेकर पेड़ों तक बर्फ जमा है। बर्फबारी से आवागमन की दिक्कतें बढ़ गई हैं। ग्रामीण बाहर जाते समय रास्ता बनाने के लिए बर्फ काटने के औजार साथ रख रहे हैं। क्षेत्र के कई गांवों में बिजली गुल है। वहीं कपकोट के दूरस्थ गांव बोराचक झारकोट के तीनों तोक बलड़ा, समडर और भराकांडे गांव में तीन से चार फीट बर्फ जमी है। 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close