देश

मेरा एक हिस्सा हमेशा सुप्रीम कोर्ट में रहेगा मौजूद: रंजन गोगोई

नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं. शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को फेयरवेल पार्टी दी गई. जब शुक्रवार को फेयरवेल समारोह में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई पहुंचे, तो उन्होंने मीडिया से दूरी बनाकर रखी. उन्होंने अपने विदाई समारोह में परंपरा से हटकर किसी तरह का कोई भाषण भी नहीं दिया. उन्होंने एक नोट के जरिए अपना बयान जारी किया और साथी न्यायमूर्तियों और सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन का शुक्रिया किया.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अपने बयान में कहा, 'भले मैं शारीरिक रूप से सुप्रीम कोर्ट में मौजूद न रहूं, लेकिन मेरा एक हिस्सा हमेशा सुप्रीम कोर्ट में रहेगा. मुझे इतने समय के कार्यकाल में बहुत सहयोग मिला. मैं सभी को अपनी शुभकामनाएं देता हूं.' सुप्रीम बार एसोसिएशन न्यायमूर्तियों के रिटायरमेंट पर फेयरवेल कार्यक्रम का आयोजन करता है.

सादगी से चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की विदाई

वहीं, सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने कहा कि चीफ जस्टिस गोगोई की इच्छा के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट में समारोह स्थल पर कोई मंच नहीं लगाया गया. इससे पहले जब भी कोई जस्टिस रिटायर हुए, तो बाकायदा मंच लगाकर समारोह आयोजित किया जाता रहा है. हाल ही में जस्टिस अभय मनोहर सप्रे ने भी किसी किस्म का समारोह आयोजित ना करने की इच्छा जताई थी. तब भी बस औपचारिक मिलना जुलना ही हुआ था. इस सादगीपूर्ण समारोह में भी चीफ जस्टिस गोगोई के संदेश यानी मैसेज को ही पढ़ा गया. ये संदेश चीफ जस्टिस गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन को दिया था.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close