खेल - कूद

महिला हॉकी टीम तोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ

भुवनेश्वर
भारतीय महिला हॉकी टीम ने कमाल कर दिया है। हॉकी ओलिंपिक क्वॉलिफायर के दूसरे मुकाबले में यूएसए के खिलाफ हारने के बाद भी उसने तोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ कर लिया है। दरअसल, उसने एग्रीगेट के आधार पर यूएसए को 6-5 से दी शिकस्त दी। बता दें कि भरतीय महिला टीम ने पहले मैच में यूएसए की टीम को 5-1 के बड़े अंतर से हराया था, जबकि दूसरे मुकाबले मे उसे यूएसए के हाथों 1-4 से हार का सामना करना पड़ा। बावजूद इसके वह यूएसए के 5 गोल के मुकाबले 6 गोल के साथ ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ करने में सफल रही।

मैच की बात करें तो भारतीय महिला टीम तीनों क्वॉर्टर में पिछड़ी नजर आई और शुक्रवार का खेल कहीं भी देखने को नहीं मिला। उसका डिफेंस बेहद कमजोर दिखा, जिसका फायदा उठाते हुए यूएसए की टीम ने एक के बाद एक 4 गोल जड़ डाले। भारत के लिए पहला और जादुई गोल कप्तान रानी रामपाल ने मैच के 49वें मिनट में किया।
दूसरी ओर, यूएसए के लिए पहला गोल अमांडा मेगाडैन ने 5वें मिनट में किया। यह गोल पेनल्टी कॉर्नर पर लगाया गया था। यूएसए के लिए दूसरा गोल 14वें मिनट में कैथलीन शैरकी ने जड़ा। इसके 6 मिनट बाद ही एलिसा पार्कर ने 20वें मिनट में गेंद जाल में उलझाते हुए टीम को एकतरफा 3-0 की बढ़त दिला दी। मेहमान टीम के लिए 28वें मिनट में अमांडा मेगाडैन ने चौथा गोल किया।

तीन क्वॉर्टर का संघर्ष देखकर भारतीय फैन्स निराश दिख रहे थे, लेकिन 49वें मिनट में कप्तान ने गोल दागते हुए उनके चेहरे पर खुशी लौटा दी। इस गोल के बाद भारतीय टीम का जश्न देखते बन रहा था। इसके बाद कोई भी खिलाड़ी गोल दाग नहीं सका और भारत ने ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ कर लिया।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close