राजनीति

महाराष्ट्र में नोटा से पीछे रही आम आदमी पार्टी

मुंबई
आम आदमी पार्टी (आप) का महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में काफी फीका प्रदर्शन रहा। पार्टी को महज 0.1 प्रतिशत वोट मिले जबकि नोटा को भी 1.35 प्रतिशत वोट मिले। आप ने केवल 20 सीटों पर ही उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था। ऐसे में, पार्टी की महाराष्ट्र में प्रवेश की आगे की राह मुश्किल होती दिख रही है। हालांकि, पार्टी इसे शुरुआत के तौर पर देख रही है।

मुंब्रा-कलवा में ही दिखा असर
मुंब्रा-कलवा विधानसभा सीट पर आप के उम्मीदवार अबू फैजी ने जरूर दमखम दिखाया। एनसीपी के दमदार चेहरे जितेंद्र आव्हाड के सामने प्रचार के समय से ही फैजी चर्चा में थे। उन्हें 30,520 वोट मिले जो कि कुल मतदान का 17.05 प्रतिशत थे। इस सीट पर प्रचार के लिए कई नेता दिल्ली से आए थे।

केजरीवाल का प्रभाव नहीं
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी प्रचार के अंतिम चरण में विदर्भ में पार्टी उम्मीदवार परोमिता गोस्वामी के लिए सभा किए थी, लेकिन उन्हें महज 3,596 वोट ही मिले। आप के मुंबई में उतरे उम्मीदवार भी कोई प्रभाव नहीं दिखा पाए।

सोशल मीडिया पर प्रभावी
सोशल मीडिया पर जरूर आप ने प्रभावी उपस्थिति दिखाई। दिल्ली में शिक्षा और स्वास्थ्य के मुद्दे में बेहतरीन काम की झलक दिखाते हुए पार्टी वोटर के बीच गई थी। एक आप समर्थक ने कहा कि पार्टी ने महाराष्ट्र में महज 20 उम्मीदवार उतारे थे। इसके आधार पर नतीजे पर पहुंचना जल्दबाजी होगी। समय के साथ पार्टी अपनी जड़ें मजबूत करेगी। आप प्रवक्ता रूबेन मैसक्रिन्हास ने कहा, 'हम लोगों की आवाज बनने के उद्देश्य से मैदान में आए हैं। आगे से हम बीएमसी समेत सभी लोकल कॉर्पोरेशन के भी चुनाव लड़ेंगे।'

Tags

Related Articles

Back to top button
Close