बिहार

भागलपुर में धुरी यादव हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा, 11 शूटर थे तैयार

भागलपुर 
भागलपुर में दबंग छवि वाले और केन्द्रीय काली पूजा समिति के महासचिव चिरंजीवी यादव उर्फ धुरी यादव हत्याकांड में चौंकानवाला खुलासा हुआ है। दरअसल अभी तक की पुलिस जांच के अनुसार कांट्रेक्ट किलिंग का मामला सामने आया है। 

जानकारी के अनुसार हत्या के लिए शूटरों ने घटनास्थल के आसपास की सभी गलियों में मोर्चाबंदी कर रखी थी, ताकि किसी रास्ते से धुरी यादव भाग नहीं सके। हत्या में 11 बदमाश शामिल थे। एसएसपी आशीष भारती ने सिटी एसपी और सिटी डीएसपी के नेतृत्व में जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है। उर्दू बाजार इलाके का मोबाइल टावर डंपकर पुलिस जांच में जुट गई है।
 
पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार, धुरी यादव की हत्या के लिए दुर्गा पूजा से शूटर रेकी कर रहे थे, लेकिन मौका नहीं मिल रहा था। हत्या के मास्टरमाइंड ने शूटरों को उर्दू बाजार के ही लॉज में छात्र बनकर ठहराया था। हत्या में शामिल सभी शूटर 22 से 25 वर्ष उम्र के बताए जा रहे हैं। सीसीटीवी फुटेज में मिले दो संदिग्धों की पुलिस टीम पहचान कराने का प्रयास कर रही है। बदमाशों का स्कैच तैयार कराया जा रहा है। घटना के प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को जानकारी दी है कि शाम 6:15 बजे धुरी यादव जब आदर्श कॉलोनी से वापस घर लौट रहे थे तो उसी समय सामने की दो गलियों में संदिग्धों को देखकर वाजिद अली लेन के पास रुक गए। बाइक पर बैठे अजय सिंह को उतार कर गली की ओर भागने की कोशिश की। इस बीच सामने से आ रही एक महिला से बातचीत कर संदिग्ध की ओर देखने लगे। इसी दौरान बदमाशों ने हमला कर दिया। पहली गोली दूर से कमर में मारी गई। इसके बाद सीने और बाएं कनपट्टी में सटाकर गोली मार दी गई।
 
मंगलवार को घटना की जांच के दौरान पूरी कहानी सामने आई। लोगों के मुताबिक तीन गलियों में तीन-तीन और पीछे के रास्ते में दो बदमाश मोर्चा लेकर खड़े थे। सभी शूटर हथियार से लैश थे, लेकिन डर से कोई लोग सामने नहीं आ रहा है। धुरी यादव के छोटे भाई और जदयू नेता शिशुपाल भारती ने कहा कि घटना में कुल 11 बदमाश शामिल थे। भागने के लिए कोई रास्ता नहीं बचा था और भाई का बचना मुश्किल था। किसी भी अपराधी को पहचानते नहीं हैं, इसलिए अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी। पुलिस पर भरोसा है। भाई ने 20 साल तक पुलिस प्रशासन को सहयोग किया है। अब प्रशासन की बारी है। हत्यारा कोई भी हो सामने आना चाहिए। सिटी एसपी एसके सरोज ने कहा कि पुरानी रंजिश और प्रॉपर्टी डीलिंग के बिंदु पर जांच चल रही है।     

Related Articles

Back to top button
Close