मध्य प्रदेश

बिजली बिलिंग दक्षता में सुधार लाने के निर्देश

भोपाल
मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक विशेष गढ़पाले ने बिलिंग दक्षता में सुधार, राजस्व संग्रहण में वृद्धि और सकल तकनीकी एवं वाणिज्यिक हानियों (एटीएंडसी) में कमी लाने पर जोर दिया है। गढ़पाले गोविन्दपुरा स्थित कंपनी मुख्यालय में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।

प्रबंध संचालक ने कहा कि प्रत्येक जोन पर भोपाल शहर के महाप्रबंधक दौरे कर लाइनमेन स्तर तक विशेष बैठकें आयोजित करें ताकि बिलिंग दक्षता में सुधार संभव हो सके। उन्होंने कहा कि जो अधिकारी या कर्मचारी कार्य में कोताही बरत रहे हैं उनके खिलाफ निलंबन तथा वेतन वृद्धि रोकने जैसी कार्यवाही की जाएगी। प्रबंध संचालक ने कहा कि किसी भी अवस्था में बिलिंग दक्षता 80 फीसदी से कम नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में 90 फीसदी का लक्ष्य रखें। बैतूल एवं होशंगाबाद वृत्त में सीआरपीयू (प्रति यूनिट नकद राजस्व वसूली) में वृद्धि तथा बैतूल वृत्त लाभ की स्थिति में आने की सराहना की गई।

रबी सीजन में ट्रांसफार्मर की कोई कमी नहीं

बैठक में जले एवं खराब ट्रांसफार्मर बदलने के काम की समीक्षा की गई। बैठक में स्पष्ट किया गया कि सभी एरिया स्टोर और सभी संभागों में ट्रांसफार्मरों की उपलब्धता सुनिश्चित कर ली गई है। पात्रता वाले ट्रांसफार्मर कम से कम समय में बदले जा रहे हैं। अस्थाई कनेक्शन देने की प्रक्रिया को और सरल बनाया गया है और किसानों को आसानी से कनेक्शन प्राप्त हो रहे हैं।

प्रबंध संचालक ने घातक एवं अघातक विद्युत दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए लाइन स्टॉफ को सेंसीटाइज करने की जरूरत बताई और कहा कि बिना सुरक्षा उपकरणों के लाइन पर काम न किया जाए। उन्होंने कहा कि ‘‘इंदिरा किसान ज्योति योजना‘‘ एवं ‘‘इंदिरा गृह ज्योति योजना‘‘ का लाभ नियमानुसार पात्र उपभोक्ताओं को दिया जाए। बकायादार उपभोक्ताओं के खिलाफ सघन अभियान चलाया जाए। विजिलेंस एवं बीआई सेल शंका के दायरे में आने वाले उपभोक्ताओं पर कार्यवाही करें।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close