मध्य प्रदेश

बाल दिवस पर CM कमलनाथ की शिक्षकों से अपील- समय पर स्कूल आएं और गंभीरता से पढ़ाएं

भोपाल
बाल दिवस (Children's day) पर मुख्यमंत्री कमलनाथ (cm kamalnath) ने बच्चों के नाम पर शिक्षकों को संदेश (Message to teachers) दिया है. उन्होंने की शिक्षकों के नाम एक खुली चिट्ठी (Open letter) जारी की. इसमें उनसे आदर्श शिक्षक बनने की अपील की गयी है. शिक्षकों से कहा गया है कि वो समय पर स्कूल आएं और गंभीरता से पढ़ाएं.

पंडित जवाहर लाल नेहरु की जयंती पर बाल दिवस मनाया जा रहा है. बच्चों के नाम समर्पित इस दिन को सीएम कमलनाथ ने बाल दिवस के ज़रिए शिक्षकों को संदेश देने के लिए चुना. उन्होंने शिक्षकों के नाम चिट्ठी जारी की. इसमें उनसे अपील की गयी है कि वो आदर्श शिक्षक बनें. स्कूल समय पर आएं और शिक्षण कार्य गंभीरता से करें.सीएम कमलनाथ ने अपने चिट्ठी में कहा, स्कूलों से शिक्षकों की गैर हाजिरी भावी पीढ़ी के साथ अन्याय है.शिक्षकों को समाज और सरकार की अपेक्षाओं पर खरा उतरने की ज़रूरत है. सरकार, प्रदेश में बुनियाद को मजबूत बनाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. उन्होंने शिक्षकों से बाल दिवस के मौके पर सुशिक्षित और शुभ विकसित प्रदेश के निर्माण का संकल्प लेने की अपील की.
समय पर स्कूल आएं

अपनी चिट्ठी में सीएम कमलनाथ ने लिखा-माता-पिता के बाद आप ही लोग हमारे नौनिहालों के सबसे करीब हैं.आप ही उनके आदर्श और पथ-प्रदर्शक हैं. शिक्षा को ज्ञान के प्रकाश पुंज में परिवर्तित करने वाले आप ही हैं. आप केवल शासकीय कर्मचारी नहीं है बल्कि भविष्य के रचनाकार हैं. आप के ऊपर भावी पीढ़ी के निर्माण का दायित्व है. आपके व्यवहार, आचरण और व्यक्तित्व का बच्चों पर गहरा प्रभाव पड़ता है. इसलिए आप समय पर स्कूल आएं. गंभीरता और ज़िम्मेदारी से उन्हें पढ़ाएं. कॉपी ध्यान से जांचें उन्हें सुधारें. अगर आप ही स्कूल नहीं आएंगे या ठीक से नहीं पढ़ाएंगे तो आप ना सिर्फ बच्चों बल्कि समाज और सरकार की अपेक्षाओं पर भी खरे नहीं उतर पाएंगे.

सीएम कमलनाथ ने लिखा हमारा पूरा ध्यान और शिक्षा विभाग (education Department) का पूरा प्रयास स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता और विकास पर है. मुझे विश्वास है कि आपके प्रयास से हम लक्ष्य हासिल करेंगे. सीएम ने बच्चों के साथ शिक्षकों को भी बाल दिवस की बधाई देते हुए उम्मीद जताई कि हम एक सुशिक्षित और सुविकसित मध्य प्रदेश के निर्माण का संकल्प लें.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close