मध्य प्रदेश

बच्चे स्कूल आने के लिये उत्साहित हों, ऐसा बनाएं स्कूल का वातावरण

भोपाल

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने आज यहाँ शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, जहॉगीराबाद में बाल मेले का शुभारंभ करते हुए कहा कि स्कूल का वातावरण ऐसा बनाएं कि बच्चे खुद स्कूल आने के लिये उत्सुक रहें, उत्साहित हों। डॉ. चौधरी ने कहा कि बच्चों को ऐसी प्राथमिक शिक्षा देना चाहिये, जिससे उनकी जिज्ञासाओं का समाधान हो और वे खुद करके सीखें।

मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि प्रदेश की शिक्षा की गुणवत्ता को देश में अग्रणी बनाने के लिये सरकार प्रतिबद्ध है और कारगर प्रयास भी कर रही है। प्रदेश के सभी स्कूलों में हर तीन माह में पालक-शिक्षक बैठक अनिवार्य कर दी गई है। अभिभावकों को स्कूल की गतिविधियों में शामिल करने से पॉजिटिव परिणाम भी आने लगे हैं। उन्होंने स्कूलों में किये गये नवाचारों की सराहना की। डॉ. चौधरी ने कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिये स्कूलों में शिक्षा के साथ अन्य रचनात्मक गतिविधियाँ भी संचालित की जानी चाहिये।

स्कूल शिक्षा मंत्री ने मेले में गांधी जी के जीवन, व्यक्तित्व और कृतित्व पर आयोजित प्रदर्शनी का अवलोकन किया, उत्कृष्ट शिक्षकों तथा 10वीं एवं 12वीं कक्षा की प्रतिभावान छात्राओं को पुरस्कृत किया।

बाल मेले में कई रोचक गतिविधियाँ संचालित की गईं, जिनमें अभिभावकों ने सहभागिता की। विधायक  आरिफ मसूद, छात्राएँ और अभिभावक उपस्थित थे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close