देश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली का त्योहार सैनिकों के बीच मिठाई खिलाई

 
श्रीनगर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली का त्योहार मनाने रविवार को जम्मू-कश्मीर के राजौरी में आर्मी जवानों के बीच पहुंचे। पीएम मोदी ने इस दौरान जवानों के शौर्य को याद करते हुए पाकिस्तान पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पाकिस्तान ने हमसे कश्मीर छीनने की कोशिश की लेकिन हमारे सैनिकों ने उसके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया। पीएम मोदी ने कहा कि पाकिस्तान ने अवैध रूप से कश्मीर के एक हिस्से पर कब्जा कर रखा है जिसकी कसक मेरे अंदर है।
 पीएम मोदी रविवार को राजौरी में आर्मी हेडक्वॉर्टर्स पहुंचे और उन्हें अचानक अपने बीच पाकर जवानों में काफी उत्साह देखा गया। उन्होंने जवानों को अपने हाथों से मिठाई खिलाई और देश की सुरक्षा में अदम्य साहस दिखाने पर देशवासियों की तरफ से आभार जताया।

PoK को लेकर मन में कसक
पीएम मोदी ने उस दिन कश्मीर का दौरा किया जब सेना 'इन्फेंट्री डे' मना रही है। उन्होंने पैदल सेना के शौर्य को याद करते हुए कहा कि आजादी के बाद जब दोनों देश अलग हुए, तो हमने पाकिस्तान से कहा कि वह अपनी राह चले और हम अपनी राह, लेकिन पाकिस्तान ने भारत की पीठ पर खंजर घोंपने की कोशिश की। उसने कश्मीर पर कब्जे के लिए षडयंत्र रचा, लेकिन हमारी पैदल सेना ने पाक के मंसूबे को चकनाचूर कर दिया। जम्मू-कश्मीर आज भारत का हिस्सा है। पीएम मोदी ने आगे कहा, लेकिन कश्मीर का कुछ हिस्सा पाक के पास चला गया, जिसके कसक हमारे दिलों में है।
 
पाक की बयानबाजी का पराक्रम से जवाब
आर्टिकल 370 पर लिए गए फैसले के बाद पाकिस्तान की तरफ से हर दिन नफरत भरे और उकसाहट भरे बयान सामने आते हैं। ये बयान वहां की सेना से लेकर मंत्रियों तक से आ रहे हैं। पाक की इसी बयानबाजी पर तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'भारत रुआब नहीं दिखाता। हम बयानबाजी में नहीं उलझते। ऐसा नहीं है कि हमें बोलना नहीं आता। लेकिन हम इसलिए नहीं बोलते कि हमें इसकी जरूरत नहीं है। जहां ऐसे वीर जवान हों तो भारत के प्रधानमंत्री को बोलने की जरूरत नहीं। इसलिए आज आपके पराक्रम सुनाई देते हैं और उधर से (सीमा पार) कैसी-कैसी भाषा सुनाई देती है।'

सेना का आधुनिकीकरण जरूरी
पीएम मोदी ने सेना के आधुनिकीकरण पर जोर देते हुए कहा कि आपके सामर्थ्य, पुरुषार्थ का महत्व है लेकिन युग बदल चुकीा है। सेना आधुनिक होनी चाहिए। अस्त्र शस्त्र आधुनिक होनी चाहिए, ट्रेनिंग वैश्विक स्तर की हों, साधनों के अभाव में हमारे जवानों के चेहरे पर चिंता की लकीर नहीं हो, यह जरूरी है। इसलिए हमारी सरकार ने सेना को सामर्थ्यवान और आधुनिक बनाने के लिए जरूरी कदम उठाने में कोई कमी नहीं रखी है। सरकार तेज गति से निर्णय कर रही है और प्रक्रिया तेजी से बढ़ रही है।
 
सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक पर बधाई
पीएम मोदी के पहले कार्यकाल में पाक प्रायोजित आतंकवाद का जवाब देने के लिए आर्मी और वायु सेना ने अलग-अलग समय पर पाक और पीओके में मौजूद आतंकी शिविरों पर हमले किए थे। पीएम मोदी ने इसका जिक्र करते हुए कहा, पिछले 5 सालों में सर्जिकल स्ट्राइक हो, एयर स्ट्राइक या आतंकियों के ठिकाने को साफ करने का काम, सेना ने लेशमात्र की भी कमी नहीं की है। आपने जो पांच सालों में कर दिखाया है देश के 130 करोड़ लोग आपका आभार जता रहे हैं। आपको बधाई दे रहे हैं, उनका संदेश लेकर मैं यहां आया हूं।

कैबिनेट का पहला फैसला सैनिकों के नाम
पीएम मोदी ने सैनिकों और उनके परिवारों को लेकर किए गए कार्यों को गिनाते हुए कहा, 'हमारे लिए एक वर्दी धारी ही हमारा नहीं है बल्कि उसका परिवार भी हमारा परिवार है। वन रैंक वन पेंशन का फैसला इसी प्रेरणा से प्रेरित है। वह देश के लिए जीने-मरने वालों और जूझने वालों को परिवार है। उनके लिए जो कुछ भी आवश्यक होगा, हम करने में पीछे नहीं रहेंगे। 40 साल पुरानी मांग अब पूरी हुई है। देश की जनता ने 2019 ने मुझे फिर मौका दिया और हमने कैबिनेट का पहला फैसला देश के जवानों के संतानों की छात्रवृत्ति को लेकर किया।  

Tags

Related Articles

Back to top button
Close