उत्तर प्रदेश

पोस्टमार्टम के बाद आज होगा महंत नरेंद्र गिरी का अंतिम संस्कार, CM योगी भी करेंगे अंतिम दर्शन

प्रयागराज
यूपी से लेकर दिल्ली तक अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की मौत ने खलबली पैदा कर दी है। अभी भी किसी को भरोसा नहीं हो रहा है कि महंत नरेंद्र गिरी इस तरह का कोई कदम उठा सकते हैं। आज महंत नरेंद्र गिरी का पोस्टमॉर्टम डॉक्टरों के पैनल से करवाया जाएगा और उसके बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा। सीएम योगी भी प्रयागराज के लिए रवाना हो गए हैं, वो महंत नरेंद्र गिरि के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन करेंगे। उनके अलावा डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह समेत की बड़े नेता भी प्रयागराज पहुंचने वाले हैं। 
आपको बता दें कि सोमवार शाम को नरेंद्र गिरी का शव प्रयागराज के बाघंबरी मठ में फांसी के फंदे से लटकता हुआ मिला था। पुलिस को गिरी के कमरे से सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें उनके शिष्य आनंद गिरी का जिक्र है। नोट के मुताबिक नरेंद्र गिरी लंबे वक्त से मानसिक कष्ट से जूझ रहे थे। तो वहीं कल देर रात उत्तराखंड पुलिस ने महंत नरेंद्र गिरी के शिष्य आनंद गिरी को हिरासत में भी ले लिया है और उनसे पूछताछ जारी है।
इस घटना की जांच सीबीआई करे: उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह तो वहीं इसी बीच अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने मांग की है कि इस घटना की जांच सीबीआई करे। महंत गिरी की मौत ने बहुत सारे सवाल खड़े कर दिए हैं। सुसाइड नोट में गिरी ने अपनी वसीयत के बारे में भी लिखा है और ये भी बताया है कि उनकी संपत्ति और आश्रम में से किसको क्या मिलेगा?
 
 पीएम मोदी ने ट्वीट किया है कि 'अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री नरेंद्र गिरि जी का देहावसान अत्यंत दुखद है। आध्यात्मिक परंपराओं के प्रति समर्पित रहते हुए उन्होंने संत समाज की अनेक धाराओं को एक साथ जोड़ने में बड़ी भूमिका निभाई। प्रभु उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें। ॐ शांति!!' आध्यात्मिक जगत की क्षति: सीएम योगी तो वहीं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट किया है कि 'अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि जी का ब्रह्मलीन होना आध्यात्मिक जगत की अपूरणीय क्षति है। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान तथा शोकाकुल अनुयायियों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें।' 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close