बिहार

निजीकरण के विरोध में रेलकर्मी उतरे सड़क पर, काला बिल्ला लगाकर जताया विरोध

सहरसा 
निजीकरण और निगमीकरण का विरोध करते बुधवार को रेलकर्मी सड़क पर उतरे। काला बिल्ला लगाकर विरोध जता रहे रेलकर्मियों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कर्मियों का हुजूम इंजीनियरिंग ऑफिस से निकलकर सहरसा स्टेशन पर प्रदर्शन करते इसीआरकेयू के यूनियन ऑफिस पर पहुंचा। 

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे ईस्ट सेंट्रल रेलवे कर्मचारी यूनियन के सहरसा शाखा अध्यक्ष प्रभात कुमार ने कहा कि केन्द्र सरकार रेलवे का निजीकरण और निगमीकरण को बंद करें। पुरानी पेंशन नीति को लागू करे। शाखा मंत्री संजीव कुमार ने कहा कि एआईआरएफ के आह्वान पर देश भर में केन्द्र सरकार की मजदूर विरोधी नीति के खिलाफ प्रदर्शन किया गया है। सरकार जब तक अपने मजदूर विरोधी नीति में बदलाव नहीं लाएगी हम रेलकर्मी शांतिपूर्ण तरीके से विरोध जताते रहेंगे। शाखा उपाध्यक्ष सुभाषचंद्र झा ने कहा कि रेलवे के सभी 16 जोन में विरोध प्रदर्शन करते रेलकर्मियों ने चट्टानी एकता का परिचय दिया है। यह दिखाने का काम किया है कि रेलकर्मी सरकार की निजीकरण के फैसले के खिलाफ हैं।

 प्रदर्शन कार्यक्रम में शामिल संयुक्त शाखा मंत्री सुनील कुमार, जे के सिंह, सुभाष कुमार, संगठन मंत्री अभय कुमार, अभय कुमार सिंह, राकेश कुमार, प्रकाश चन्द्र, स्नेह रंजन, धर्मवीर महाराज, जीतराम मेठ, अपूर्व कुमार सहित अन्य रेलकर्मियों ने कहा कि केन्द्र सरकार की वर्तमान नीति कर्मचारी के हित वाली नहीं है। 
 

Related Articles

Back to top button
Close