देश

दिल्ली पुलिस के समर्थन में IAS एसोसिएशन, वकीलों का लाइसेंस रद्द करने पर अड़े

 

नई दिल्ली

दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट के बाहर 2 नवंबर को पुलिस और वकीलों के बीच जो हिंसक झड़प का मुद्दा और भी गरमा गया है. मंगलवार सुबह से ही दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर सैकड़ों की संख्या में जवान जुटे हैं और नारेबाजी कर रहे हैं. पुलिस कमिश्नर की ओर से जवानों से प्रदर्शन वापस लेने की मांग की गई है, लेकिन जवान हैं कि वापस हटने का नाम नहीं ले रहे हैं.

 

गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि मामले की न्यायिक जांच चल रही है. जांच के नतीजे का इंतजार करना चाहिए. गृह मंत्रालय मामले में पूरी नजर बनाए हुए हैं.

 

IAS एसोसिएशन भी समर्थन में आया

IAS एसोसिएशन भी दिल्ली पुलिस के समर्थन में गया है. वहीं, तमिलनाडु भारतीय पुलिस सेवा (IPS) एसोसिएशन ने तीस हजारी कोर्ट में ड्यूटी पर पुलिसकर्मियों के साथ हुई मारपीट की घटना की निंदा की है.

 

एसीपी ने की प्रदर्शन खत्म करने की अपील

वहीं, एसीपी देवेश श्रीवास्तव ने कहा कि शिकायत पर उचित कार्रवाई की जाएगी. शिकायत पर कार्रवाई करते हुए ही उचित धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है. आप प्रदर्शन खत्म करें. घायल पुलिसवालों का बेहतर इलाज कराया जाएगा. उन्होंने कहा कि जब हम नौकरी में आते हैं तो हमें अनुशासन का ध्यान रखने की सीख दी जाती है. मैं चाहता हूं कि आप अनुशासन बनाए रखें और पुलिस अफसरों पर भरोसा रखें.

 

दिल्ली हाई कोर्ट ने बार काउंसिल और दिल्ली बार एसोसिएशन को नोटिस जारी किया है. इस मामले में कल फिर सुनवाई होगी. केंद्र ने आरोपी वकीलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

 

ये है प्रदर्शन कर रहे है पुलिसवालों की मांग

 

पुलिस वेलफेयर एसोसिएशन बनाने की मांग

 

पुलिस पर हमला हो तो फौरन कार्रवाई हो

 

पुलिसवालों का निलंबन वापस हो

 

दोषी वकीलों के खिलाफ केस दर्ज हो

 

प्रदर्शन खत्म करने के लिए पुलिसकर्मियों को मैसेज भेज गए

 

वहीं, सूत्रों का कहना है दिल्ली पुलिस के सीनियर अफसरों ने सभी पुलिसकर्मियों को मैसेज भिजवाया है की अब वे कोई प्रोटेस्ट में ना जाएं वरना उनके खिलाफ एक्शन होगा. ये मेसेज सब डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी ने अपने अपने पुलिस कर्मियों को भिजवाया है, बावजूद इसके सभी पुलिस कर्मी प्रोटेस्ट में लगातार बने हुए हैं. इधर, पुलिस और वकीलों के बीच तनातनी के माहौल में बिहार पुलिस एसोसिएशन ने दिल्ली पुलिस को नैतिक समर्थन दिया और निष्पक्ष जांच की मांग की है.

 

सस्पेंड पुलिसकर्मियों को बहाल करने की मांग

रिटायर्ड पुलिसकर्मियों का एसोसिएशन भी प्रदर्शन में शामिल हो गया है. प्रदर्शन कर रहे पुलिसवालों का कहना है कि हमारे अधिकारी ही हमारी नहीं सुन रहे हैं. पुलिसवालों की मांग है कि सस्पेंड पुलिसकर्मियों को बहाल किया जाए और दोषी वकीलों का लाइसेंस रद्द की मांग की है.

 

दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के दफ्तर में दिल्ली के सभी छह जिला अदालतों के बार एसोसिएशन की मीटिंग हो रही है. मीटिंग में बार काउंसिल ऑफ इंडिया के आला पदाधिकारियों को भी बुलाया गया है. पुलिसवकीलों के विवाद में बीच का रास्ता निकालने और जांच कार्रवाई में तेजी की कोशिश की जा रही है.

 

साकेत कोर्ट में पुलिसवाले की पिटाई के मामले में केस दर्ज

साकेत कोर्ट के पास बाइक सवार पुलिसवाले की पिटाई के मामले में केस दर्ज हो गया है. बाइक सवार कॉन्स्टेबल का नाम करण है. महरौली थाने में तैनात करण सोमवार को सरकारी काम से साकेत कोर्ट गए थे. तभी वकीलों ने उसके साथ मारपीट की थी. इस मामले में दो अज्ञात वकीलों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close