दुनिया

थाइ राजा ने गद्दारी के कारण छीना ‘पत्नी का दर्जा’

बैंकॉक
थाइलैंड के राजा वाजिरालोंगकोर्न ने अपनी 34 साल की रानी का दर्जा प्राप्त अपनी खास सहयोगी को गद्दारी और कथित महत्वाकांक्षा के कारण पद से हटा दिया है। सोमवार को शाही घराने की ओर से जारी संदेश में कहा गया कि रानी के जैसे हक हासिल करने की महत्वाकांक्षा के कारण 3 महीने से भी कम समय में सभी पद और शक्तियों से बर्खास्त किया जा सकता है।

राजा ने 34 साल की सिनीनात को दिया था शाही दर्जा
राजा के 67वें जन्मदिन पर 28 जुलाई को सिनीनात वोंग वचिरापाक को राजा ने रॉयल बॉडीगार्ड का दर्जा दिया था। सिनीनात आम लोगों के बीच 'कोई' के नाम से काफी लोकप्रिय हैं। थाइलैंड के शाही घराने की लगभग 100 साल पुरानी परंपरा में यह पहली बार हुआ कि किसी महिला को यह खास पद दिया गया है। कुछ दिन पहले ही शाही महल के द्वारा सिनीनात की कुछ युद्ध उपकरणों को चलाने, फाइटर जेट उड़ाने और राजा के हाथ थामकर चलने की तस्वीरें वायरल हुई थीं।
पढ़ें : थाइलैंड के राजा ने अपनी बॉडीगार्ड को राजतिलक से पहले बनाया पत्नी

3 ही महीने में खत्म हो गई सिनीनात की शाही जिंदगी
सोमवार को इस घटना के 3 महीने बाद ही सिनीनात को इस तरह से शाही घराने से बाहर का रास्ता दिखाने की खबरें मीडिया में छाई रहीं। शाही घराने की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'राजा के प्रति वफादारी नहीं निभाने और रानी सुथिदा की नियुक्ति के खिलाफ अपनी महत्वाकांक्षाओं के लिए षड्यंत्र के कारण उन्हें पद से बर्खास्त किया जाता है।' सिनीनात को चाओ खुन फरा या रानी का दर्जा प्राप्त पद दिया गया था।

शाही संदेश में सिनीनात की आलोचना
शाही घराने की ओर से जारी संदेश में स्पष्ट तौर पर सिनीनात के लिए बहुत कठोर शब्दों का चयन किया गया। संदेश में कहा गया, 'उन्होंने राजा के प्रति कोई सम्मान नहीं दिखाया और स्पष्ट है कि उन्हें शाही परंपराओं का कोई ज्ञान नहीं है… उनकी हरकतें निजी फायदे के लिए थीं।' कोई के व्यवहार को अपमानजनक बताते हुए संदेश में कहा गया, 'वह लगातार खुद को रानी सुथिदा के बराबर खड़ा करने की कोशिश कर रही थीं। उनका व्यवहार सर्वोच्च सम्मान के अधिकारी के खिलाफ अपमानजनक था और इस वजह से आम लोगों के बीच में असमंजस का माहौल बन गया।'

सिनीनात ट्रेंड पायलट, किंग के बॉडीगार्ड यूनिट में थीं
34 साल की सिनीनात ने रॉयल थाइ आर्मी से ग्रैजुएट थीं और 23 साल की उम्र में उन्होंने डिग्री ली। बतौर पायलट उन्होंने थाइलैंड और विदेशों में भी ट्रेनिंग ली थी। उन्होंने किंग के बॉडीगार्ड यूनिट में भी सेवाएं दी और मई में उन्हें शाही दर्जा दिया गया था।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close