बिहार

झारखंड के देवघर से अपहृत 8वीं का छात्र जमुई से बरामद, पुलिस ने परिजनों को सौंपा

बरहट(जमुई) 
झारखंड के देवघर से अपहृत छात्र जमुई से बरामद किया गया। दरअसल शनिवार की शाम छात्र अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भागकर जमुई रेलवे स्टेशन पहुंचा। जहां वह एक व्यक्ति से अपने घर देवघर बात कराने को कही। इसके बाद व्यक्ति ने छात्र को जीआरपी जमुई के हवाले किया। 

अपहृत छात्र की पहचान देवघर के नंदन पहाड़ निवासी शिवम कुमार, पिता शंभू सिंह, महादेव नगर गली, वार्ड नंबर 14 बताया गया। छात्र से मिली जानकारी के अनुसार वह दून पब्लिक स्कूल नंदन पहाड़ देवघर में क्लास आठवीं का छात्र है। अपहृत छात्र के अनुसार दीपावली की सुबह वह नंदन पहाड़ पार्क घूमने गया था। पार्क घूमने के दौरान वह दूसरे छोर पर बाहर निकला। इसी बीच दिन के करीब 11:00 बजे उसके सामने एक मारुति वैन आकर रुकी। उसमें से एक व्यक्ति बाहर निकला और उससे जसीडीह जाने का रास्ता पूछा। उसने उक्त व्यक्ति को जसीडीह जाने का रास्ता बताया। इसी बीच वैन से उतरकर एक व्यक्ति उसे स्प्रे मार दिया जिससे वह बेहोश हो गया और उसके बाद उसे कुछ पता नहीं। रात उसे जब होश आया तो वह अपने को एक कमरे में बंद पाया।

बकौल छात्र जिस कमरे में उसे रखा गया था वहां उसे 5 से 8 व्यक्ति उसकी निगरानी किया करते थे। कोई उससे बात नहीं करता था,  सिर्फ सुबह-शाम दरवाजे के नीचे से खाना दे दिया करता था। एक दिन अपहरणकर्ता खाना देने के बाद उसके दरवाजे बंद करना भूल गए। शराब के नशे में होने के कारण वे लोग वहीं सो गए। तब मौके का फायदा उठाकर वह वहां से भाग निकला। भागने के दौरान उन्होंने अपहरणकर्ताओं का बैग भी अपने साथ ले लिया जिसमें कुछ पैसे थे। भागकर वह किसी तरह जमुई स्टेशन पहुंचा और एक व्यक्ति के पास फोन देख घर बात कराने की कही। तब उक्त व्यक्ति ने उसे जीआरपी के हवाले किया। जीआरपी थानाध्यक्ष एसके रजक ने छात्र के कथनानुसार देवघर थाना से संपर्क कर मामले की जानकारी ली। तब जीआरपी को पता चला कि छात्र के पिता ने देवघर थाने में  29 अक्टूबर को फिरौती के लिए अपहरण करने की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। 

इस संबंध में देवघर थाना के एएसआई संजय कुमार शर्मा ने बताया की छात्र के पिता ने देवघर थाने में फिरौती के लिए अपहरण करने को लेकर प्राथमिकी दर्ज कराई थी। किस मकसद से बच्चे का अपहरण किया गया पता नहीं। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। छात्र के पूछताछ के बाद ही मामले का खुलासा किया जा सकेगा।

Related Articles

Back to top button
Close