मध्य प्रदेश

झबुआ के बाद अब टीकमगढ़ में भी भाजपा को लग सकता है बड़ा झटका

टीकमगढ़

मध्यप्रदेश में सियासत का उलटफेर जारी है। झाबुआ में कांग्रेस को मिली जीत के बाद अब टीकमगढ़ में भी भाजपा विधायक राकेश गिरी के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें तेज़ हो गई हैं। इससे पहले जब टीकमगढ़ के विधायक और कैबिनेट मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर की एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, तभी यह माना जा रहा था कि राकेश गिरी कभी भी पार्टी छोड़ सकते हैं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ था, किन्तु अब एक बार फिर यह चर्चाओं का बाजार गर्म हो चला है कि भाजपा विधायक कांग्रेस खेमे में शामिल हो सकते हैं। अगर ऐसा हुआ तो भाजपा को मध्यप्रदेश में दूसरा बड़ा झटका लगेगा। मामला नगर पालिका से जुड़ा है।

दरअसल,  टीकमगढ़ की नगर पालिका में विधायक राकेश गिरी की पत्नी लक्ष्मी गिरी अध्यक्ष हैं, इससे पहले का कार्यकाल स्वयं राकेश गिरी ने संभाला था, लेकिन मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद कांग्रेसी पार्षदों का दबदबा बढ़ते ही नगर पालिका में पीएम घोटाला जैसे अन्य निर्माण कार्यों की जांच खड़ी हो गई है और इसके प्रतिवेदन बनाकर वरिष्ठ कार्यालयों तक भेज दिए गए हैं। इसी से नाराज भाजपाई विधायक राकेश गिरी ने नगर पालिका सीएमओ माधुरी शर्मा का तबादला कराया था। ऐसी चर्चा है, लेकिन उनका तबादला रुक गया था। इसके बाद पिछले दो दिन पूर्व एक बार फिर सीएमओ माधुरी शर्मा का तबादला सागर कर दिया गया और अब भाजपा विधायक के चहेते सीएमओ हरिहर गंधर्व को यह कमान मिली है।

इसके बाद से कंग्रेसियों में सरकार के प्रति नाराजगी देखी जा रही है। कंग्रेसियों की माने तो यह तबादला भाजपा विधायक को खुश करने के लिए किया गया है। जिससे वह कांग्रेस का दामन थाम लें। सूत्र बतातें है कि भाजपा विधायक राकेश गिरी ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी मुलाकात की है और उन्होंने यह आश्वासन भी दिया है कि वह कांग्रेस के साथ हैं। भाजपा के प्रदेश संगठन में भी यह चर्चा जोरों पर है और अटकलें लगाई जा रही हैं कि राकेश गिरी कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। फिलहाल यह आने वाला वक्त ही बताएगा कि आगे राजनीति के गलियारों में किसका बिगुल बज पाएगा।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close