बिहार

छठ महापर्व पर सुनें छठी मैया के गीत

 नई दिल्ली 
लोक आस्था का महापर्व छठ मनाने की परंपरा रामायण और महाभारत काल से ही रही है। छठ वास्तव में सूयोर्पासना का पर्व है। इसलिए, इसे सूर्य षष्ठी व्रत के नाम से भी जाना जाता है। इसमें सूर्य की उपासना उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए की जाती है। ऐसा विश्वास है कि इस दिन सूर्यदेव की अराधना करने से व्रती को सुख, सौभाग्य और समृद्धि की प्राप्ति होती है और उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। इस पर्व के आयोजन का उल्लेख प्राचीन ग्रंथों में भी पाया जाता है। इस दिन नदियों, तालाब या फिर किसी पोखर के किनारे पर पानी में खड़े होकर सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। इस मौके पर पूरा वातावरण छठ के लोक गीतों से गूंजने लगता है। आप भी सुनें छठ पूजा के ये गीत:

पवन सिंह का गाना :  छठी मईया के होता आगमन भी काफी सुना जारहा है। 
पवन सिंह का गाना :  जोड़े जोड़े नारियल भी काफी सुना जारहा है

Related Articles

Back to top button
Close