मध्य प्रदेश

कोरोना मुक्त हुआ छिंदवाड़ा ज़िला लेकिन सख़्ती पहले की तरह जारी रहेगी, सांसद ने जनता से की अपील

छिंदवाड़ा
छिंदवाड़ा ज़िला कोरोना मुक्त हो गया है. यहां पर प्रशासन की सख्ती के कारण कोरोना अपने पैर नहीं पसार पाया. जो एक आखिरी मरीज था उसकी फाइनल रिपोर्ट नेगेटिव आई है. क्षेत्र के सांसद नकुल नाथ ने जनता से अपील की है कि वो प्रशासन की हर हिदायत मानें. जो गाइड लाइन जारी की गयी हैं उन पर पूरी तरह अमल करें.

छिंदवाड़ा में कोरोना से एकमात्र संक्रमित मरीज़ मिला था. लेकिन उसकी फायनल रिपोर्ट भी निगेटिव आयी है. इस रिपोर्ट के बाद मरीज़ को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है. अब छिंदवाड़ा जिले में कोरोना संक्रमित एक भी मरीज नहीं है.इसी के साथ छिंदवाड़ा कोरोना मुक्त ज़िला हो गया है.

स्थानीय प्रशासन की सख्ती का नतीजा है कि छिंदवाड़ा में कोरोना संकम्रण फैल नहीं सका. सांसद नकुल नाथ ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर लिखा है-हमारे समस्त स्वास्थ्य कर्मियों, निगमकर्मियों, पुलिस और जिला प्रशासन के कठोर परिश्रम और जिले के लोगों के संयम, सहयोग का परिणाम है. उन्होंने कहा भले ही आज हमारा छिंदवाड़ा कोरोना मुक्त हो गया है, लेकिन कोरोना माहमारी का संकट अभी भी कम नही हुआ है.मध्यप्रदेश के अन्य जिलों में यह संक्रमण अभी भी फैल रहा है.

एमपी के 52 में से 36 जिलों में कोरोना फैल रहा है. छिंदवाड़ा के साथ कोरोना मुक्त 10 जिले हैं.वहीं 6 जिलों में एक भी कोरोना केस नहीं आया है. 10 कोरोना मुक्त जिले में हरदा में सभी 3 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. इसी तरह शाजापुर में 7, गुना में 1, राजगढ़ में 1,श्योपुर में 4, अलीराजपुर में 3,शहडोल में 3, आगर मालवा में 13 में से 12 ठीक एक की मौत, अनूपपुर में 3 हो चुके हैं. छिंदवाड़ा में 5 केस आए थे इनमें से 4 स्वस्थ हो चुके हैं और एक की मौत हो गयी है.

कांग्रेस सांसद नकुल नाथ ने छिंदवाड़ा के लोगों से अपील की है कि पहले की तरह स्थानीय प्रशासन को सहयोग करें. उसकी कही बात मानें. घर से न निकलें. सोशल डिस्टेंस बनाए रखें.

Related Articles

Back to top button
Close