देश

कर्नाटक के मंत्री सीटी रवि ने गोधरा जैसे हालात की धमकी दी: सीएए हिंसा

 
बेंगलुरु

नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ देश के कुछ हिस्‍सों में चल रहे हिंसात्‍मक विरोध प्रदर्शन के बीच कर्नाटक के मंत्री सीटी रवि का एक विवादित विडियो शुक्रवार को सामने आया जिसमें वह कथित तौर पर यह कहते हुए सुने गए कि यदि बहुसंख्यकों ने अपना संयम खोया तो गोधरा जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है। बीजेपी नेता के इस बयान पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया जतायी है और इसे 'भड़काऊ' करार दिया है। कांग्रेस की मांग है कि पुलिस उनके खिलाफ एक मामला दर्ज करे और उन्हें हिरासत में ले।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिनेश गुंडू राव ने ट्वीट किया, ‘सीटी रवि द्वारा सबसे अधिक भड़काऊ धमकी दी गई। पुलिस को उनके खिलाफ एक मामला दर्ज करना चाहिए और उन्हें ऐहतियातन हिरासत में लेना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि एक संवैधानिक पद पर रहते हुए उन्हें ऐसा बोलने की कोई जरूरत नहीं है। पर्यटन मंत्री रवि ने यह बयान कथित रूप से संवाददाताओं द्वारा बुधवार को कांग्रेस विधायक यूटी कादर के हाल के एक बयान के बारे में पूछे गए एक सवाल के उत्तर में कही।

कांग्रेस विधायक ने कथित रूप से कहा था कि यदि संशोधित नागरिकता कानून लागू किया गया तो कर्नाटक ‘आग में जल जाएगा।’ इसके जवाब में रवि विडियो में कथित तौर पर कहते दिख रहे हैं, ‘यही मानसिकता (कादर के बयान की ओर इशारा करते हुए) है जिसने गोधरा में एक ट्रेन को आग लगाई और इस मानसिकता के लोग वे हैं जिन्होंने कारसेवकों को जिंदा जला दिया, हम यह जानते हैं।’

'हमारा धैर्य हमारी कमजोरी नहीं है'
व‍िडियो में रवि कथित तौर पर यह कहते दिख रहे हैं, ‘यदि कोई प्रतिक्रिया होती है, तो उम्मीद है कि कादर ने देखा है कि क्या हुआ, जब लोगों ने गोधरा में ट्रेन में आग लगा दी थी। अगर वे भूल गए हैं, तो उन्हें एक बार याद करना चाहिए।’ उन्होंने कथित रूप से विडियो में कहा, ‘सिर्फ इसलिए कि यहां बहुसंख्यक समुदाय संयम से है, आप हर जगह आग लगाने की कोशिश कर रहे हैं। अगर वे भी क्रोधित होते हैं और उनके धैर्य की सीमा टूट जाती है, तो उसके बाद क्या होता है- आपको एक बार पीछे मुड़कर देखने की जरूरत है। हमारा धैर्य हमारी कमजोरी नहीं है।’

कांग्रेस के एक अन्य नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भी विडियो का उल्लेख करते हुए कर्नाटक में सत्तारूढ़ बीजेपी पर निशाना साधा। उन्‍होंने बीजेपी पर राजनीतिक लाभ के लिए हिंसा भड़काने का आरोप लगाया।
 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close