छत्तीसगढ़

कबीरधाम बार्डर पर प्रवासी श्रमिकों को मिली 34 बसों की सुविधा

रायपुर
कोविड-19 के कारण लॉकडाउन में फंसे प्रवासी श्रमिकों को राहत पहुंचाते हुए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशन में कवर्धा जिले के धवईपानी और पोल्मी बार्डर से राज्य की सीमा तक पहुंचाने के लिए बस की व्यवस्था की जा रही है। आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान से श्रमिक और यात्री दोनों बार्डर से लगातार आ रहे है।

जिला प्रशासन ने शीघ्रतापूर्वक श्रमिकों एवं यात्रियों को पहुंचाने के लिए दोनो पोस्ट में बस की व्यवस्था की है। प्रवासी श्रमिकों को सुरक्षित ले जाने के लिए लगाई गई सभी बसों को सेनेटाइजर किया जा रहा है। श्रमिकों की सहायता के लिए हेल्प काउंटर बनाए गए है। अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों की सहायता के लिए केन्द्र बनाये गए है, ताकि अपने गांव जाने वाली बसों की सही जानकारी उन्हें मिल सकें। धवईपानी एवं पोल्मी बार्डर में श्रमिकों के लिए नास्ते एवं पेयजल की निशुल्क व्यवस्था की गई है। चेक पोस्ट में उनके स्वास्थ्य परीक्षण के लिए काउंटर बनाया गया है। इसके साथ पुलिस सहायता केन्द्र में श्रमिकों को जानकारी देने के साथ ही मदद की जा रही है। श्रमिकों के पंजीयन के लिए काउंटर बनाए गए है। प्रवासी श्रमिकों को राज्य की सीमा तक एवं छत्तीसगढ़ के श्रमिकों को उनके जिलों तक पहुंचाने के लिए लगभग 34 बसें लगी हुई है।

Related Articles

Back to top button
Close