खेल - कूद

इन 2 बदलावों के साथ कटक में ऐसा हो सकता है भारत का प्लेइंगXI

 नई दिल्ली
तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1-1 से बराबरी पर चल रही भारत और वेस्टइंडीज की क्रिकेट टीमें रविवार (22 दिसंबर) को यहां बाराबाती स्टेडियम में होने वाले तीसरे और अंतिम मैच को जीतकर सीरीज कब्जाने के इरादे से मैदान पर उतरेगी। भारत अगर विंडीज के खिलाफ तीसरा मैच जीतकर सीरीज अपने नाम करने में सफल होता है तो विंडीज के खिलाफ उसकी यह लगातार 10वीं द्विपक्षीय सीरीज होगी।

बाराबती स्टेडियम में वेस्टइंडीज और भारत के खिलाफ निर्णायक वनडे मैच खेलने उतरेगा। पहला वनडे वेस्टइंडीज ने 8 विकेट से जीता और दूसरे वनडे में भारत ने 107 रनों से जीत हासिल की थी। यह निर्णायक मैच होगा। इस टीम के संभावित प्लेइंग इलेवन कौन-कौन हो सकते हैं आइए डालते हैं एक नजरः 
 
रोहित शर्माः दूसरे वनडे में एकबारगी लग रहा था कि रोहित अपना चौथा दोहरा शतक बना लेंगे, लेकिन विशाखापत्तन में वह 159 रन पर आउट हो गए। रोहित साल का अंत शानदार करना चाहेंगे। 

केएल राहुलः वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में राहुल ने अब तक शानदार बल्लेबाजी की है। शिखर धवन की गैर मौजूदगी में राहुल ने घरेलू मैदान पर अपना पहला शतक लगाया। रविवार को भी भारत राहुल से बढ़िया पारी की उम्मीद करेगा। 

विराट कोहलीः विराट पिछले मैच में गोल्डन डक पर आउट हुए थे। अबतक दोनों मैचों में वह केवल 4 रन बना पाए हैं। तीसरे वनडे में वह बड़ा स्कोर बनाना चाहेंगे। 

श्रेयस अय्यरः मुंबई के युवा बल्लेबाज अय्यर ने लगातार यह दिखाया है कि वह नंबर 4 के सबसे उपयुक्त बल्लेबाज हैं। चेन्नई और विशाखापत्तनम में उन्होंने शानदार बल्लेबाजी की है। उन्होंने तेज आक्रामक अर्द्धशतक लगाया। 

ऋषभ पंतः पंत ने दूसरे वनडे में दिखाया कि क्यों उन्होंने महेंद्र सिंह धौनी का उत्तराधिकारी कहा जा रहा है। विशाखापत्तनम में उन्होंने 19 गेंदों में चार छक्कों के साथ 39 रन की तेज तर्रार पारी खेली। 

केदार जाधवः जाधव ने चेन्नई में जितना मौका मिला बढ़िया पारी खेली। विशाखापत्तनम में भी अंतिम ओवर में उन्होंने तीन चौके लगा कर अपनी उपयोगिता साबित की। लेकिन उनकी गेंदबाजी काफी दबाव में है। कोहली चाहेंगे कि मिडिल ओवरों में उनसे गेंद फिंकवाई जाए। 

रविंद्र जडेजाः जडेजा खुद को एक ऑलराउंडर के रूप में टीम में फिट करने की कोशिश कर रहे हैं। वह एक फिनिशर की भूमिका निभा सकते हैं। वह मिडिल ओवरों में विकेट निकाल सकते हैं। 

कुलदीप यादवः विशाखापत्तनम में कुलदीप यादव अंतरराष्ट्रीय वनडे मैचों में दो हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बने थे। कटक में भी वह बढ़िया रिद्म में रहना चाहेंगे।

मोहम्मद शमीः शमी हाल में जबरदस्त फॉर्म में हैं। विशाखापत्तनम में उन्होंने लगातार दो गेंदों पर दो विकेट लेकर मैच भारत की तरफ मोड़ दिया था। निकोलस पूरन और शाई होप को उन्होंने लगातार आउट किया। बुमराह की अनुपस्थिति में वह प्रमुख गेंदबाज हैं। 

नवदीप सैनीः दिल्ली के मध्यम तेज गति के गेंदबाज नवदीप को दीपक चाहर की जगह मौका मिल सकता है। रणजी ट्रॉफी में उन्होंने दिल्ली की तरफ से 5 विकेट लिए थे। उन्हें शार्दुल ठाकुर की जगह खिलाया जा सकता है। 

युजवेंद्र चहलः पहले दो वनडे में चहल प्लेइंग 11 में नहीं थे। चेन्नई में इसका असर भी दिखाई दिया। शिमरोन हेटमायर और शाई होप ने भारतीय गेंदबाजों की जमकर धुलाई की। यहां तक की निकोलस पूरन और होप ने विशाखापत्तनम में भी गेंदबाजों को नहीं बख्शा। चहल वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों की धार को कमजोर कर सकते हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close