मध्य प्रदेश

इधर छात्राओं को मधुमक्खियां काट रही थीं, उधर मंत्रीजी भाषण दे रहे थे

भिंड
स्थापना दिवस के अवसर पर पूरे मध्यप्रदेश में कार्यक्रम आयोजित किए गएं। भिंड जिले में भी एक स्कूल प्रांगण में स्थापना दिवस समारोह का आयोजन किया गया था। जिसमें शामिल होने मंत्री गोविंद सिंह राजपूत पहुंचे थे। मंत्री जी मंच से भाषण दे रहे थे और जिले के अधिकारी उनके बगल में बैठे थे। तभी ग्राउंड में तेजी से दर्जनों लड़कियां भागने लगीं। लेकिन मंत्री जी का भाषण जारी रहा।

दुपट्टे से चेहरा ढक लड़कियां चिखते-चिल्लाते तेजी से भाग रही हैं। किसी को कुछ समझ में नहीं आ रहा है कि आखिर हुआ क्या है। मिनटों में किसी के चेहरे में सूजन आ गई है तो कोई डर से रो रही है। लड़कियों को भागते देख उनकी टीचर भी पीछे दौड़ीं। तभी लड़कियां बताती हैं कि मधुमक्खियों ने हमला कर दिया है। कई लड़कियों को काट लिया है। देखते ही देखते लड़कियों के चेहरे फुल गए।

जिस वक्त लड़कियों पर मधुमक्खियों ने हमला किया, उस वक्त ग्राउंड में बने मंच से मंत्री गोविंद सिंह भाषण दे रहे थे। यहीं नहीं जिले के कलेक्टर भी मंच पर ही मौजूद थे। लेकिन लड़कियों को भागते देख किसी ने जहमत नहीं उठाई कि जाकर उनका हाल जान सके कि आखिर उन्हें हुआ क्या है। लड़कियां बदहवास तरीके से मैदान में मधुमक्खियों के हमले से बचने के लिए दौड़ती रहीं लेकिन अफसर और नेता मंच से उपलब्धियों की बखान में जुटे थे।

लड़कियों ने कहा
मधुमक्खियों से हमले की शिकार हुईं लड़कियों ने कहा कि वे यहां सांस्कृतिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने आई थीं। कार्यक्रम के बाद फोटो सेशन चल रहा था। तभी मधुमक्खियों ने पीछे से हमला कर दिया। जब तक हमलोग वहां से सुरक्षित स्थान पर पहुंचते उससे पहले ही मधुमक्खियों ने कई लड़कियों को काट लिया। कुछ देर के लिए मैदान में अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न हो गईं। उसके बाद लड़कियों को अस्पताल पहुंचाया गया

कोई नहीं पहुंचा देखने
लड़कियों को बस में भरकर अस्पताल पहुंचाया गया। वह दर्द से कराहती रहीं। कई लड़कियां इतनी डरी थीं कि वह पूरे रास्ते रोती रहीं। लेकिन मंत्री और अफसरों ने अस्पताल जाकर उनकी सुध लेने की जरूरत नहीं समझी। सभी लड़कियों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। हाल जानने जिले का कोई भी बड़ा अधिकारी नहीं पहुंचा। करीब एक दर्जन से ज्यादा लड़कियां मधुमक्खियों के हमले की शिकार हुई हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close