उत्तर प्रदेश

अयोध्या केस : मस्जिदों से किया शांति बनाए रखने का ऐलान

 मेरठ 
अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले रविवार को शहर की छह मस्जिदों से शांति बनाए रखने का ऐलान किया गया। दारूल उलूम देवबंद उलेमा की आइमा संस्था ने भी अपील करते हुए कहा है कि फैसले का स्वागत करें। उधर, हिन्दू और मुस्लिम धर्मगुरुओं के दो व्हाट्स एप ग्रुप बना दिए गए हैं। इसके एडमिन खुद एसएसपी अजय साहनी हैं। वहीं, अयोध्या प्रकरण में चर्चा करने के लिए प्रदेशभर के इंटेजीलेंस और एलआईयू अफसरों की बैठक आज लखनऊ में बुलाई गई है।

मस्जिद इमलियान, जामा मस्जिद, जैनुल फिरदौस मस्जिद, टोल वाली मस्जिद, गोलाकुआं और मदीना मस्जिद से लाउडस्पीकर के जरिये घोषणा की गई कि देश व शहर में अमन शांति बनाए रखनी है। दारूल उलूम देवबंद की आइमा संस्था की तरफ से अपील की गई है कि जो भी फैसला आए, उसका स्वागत करें। क्योंकि यह फैसला हमारे देश की सबसे बड़ी अदालत का है।

एसएसपी ने बताया कि शहर के अन्य मंदिर-मस्जिदों से लगातार इस तरह के ऐलान कराए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि फिलवक्त के माहौल से स्पष्ट है कि मेरठ जिला शांत है। यह पुलिस-प्रशासन के लगातार प्रयासों का नतीजा है। उन्होंने बताया कि सभी महत्वपूर्ण हिन्दू-मुस्लिम संगठनों, व्यापारियों के साथ बैठकें कर ली गई हैं। सभी ने फैसले पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं करने का आश्वासन दिया है। व्हाट्स एप ग्रुप बनाकर लगातार नजर रखी जा रही है।

लखनऊ में बैठक आज
लखनऊ मुख्यालय में आज सभी इंटेलीजेंस और एलआईयू अफसरों की बैठक बुलाई गई है। इसमें इंस्पेक्टर से लेकर ऊपर तक के सभी अफसर बुलाए गए हैं। माना जा रहा है कि इस बैठक में तय किया जाएगा कि अब किस तरह से जानकारियां एकत्र करनी है।

Related Articles

Back to top button
Close