देश

अभी करें इंतजार, दिल्ली-यूपी बॉर्डर खुलने पर संशय बरकरार- नोएडा प्रशासन का निर्देश

 
नोएडा 

18 मई यानि कल से शुरू चौथे लॉकडाउन के लिए ज्यादातर राज्यों ने नए नियम कायदे तय कर दिए हैं. आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन का चौथा चरण कैसा होगा? इसकी तस्वीर साफ हो गई है. योगी सरकार ने छूट और पाबंदियों की नई फेहरिस्त कल रात जारी कर दी. हालांकि, दिल्ली-यूपी बॉर्डर को लेकर संशय बरकरार है.

दरअसल, 17 मई तक सड़क पर निकलने और सफर को लेकर कई पाबंदियां लागू थी. पड़ोसी राज्यों के बॉर्डर भी सील किए गए थे, लेकिन नई गाइडलाइन में इसमें रियायत दी गई है. गाइडलाइन के मुताबिक, नोएडा और गाजियाबाद के एनसीआर क्षेत्र में दिल्ली से आने वाले हॉटस्पाट एरिया के अंदर के व्यक्तियों को छोड़कर शेष पर प्रतिबंध नहीं रहेगा.
 
हालांकि, नोएडा डीएम ने लोगों से फिलहाल दिल्ली नोएडा बॉर्डर पर यथास्थिति बनाए रखने की अपील की है. बॉर्डर खोलने के बारे में नोएडा प्रशासन सरकार से फिर से बातचीत करने के बाद ही फैसला लेगा. वहीं योगी सरकार ने नई गाइडलाइन में शादी समारोह और बरातघरों को भी रियायत दी है.
 
उत्तरप्रदेश में लॉकडाउन के चौथे दौर के नियम और शर्तें करीब करीब वही हैं जो केंद्र सरकार ने जारी किए है, लेकिन कुछ अहम बातें जिन्हें तय करना राज्य सरकार के दायरे में था. उन्हें लेकर सोमवार देर रात योगी सरकार ने गाइडलाइन जारी कर दी हैं. इन दिशा निर्देशों से साफ है कि कोरोना से जंग के साथ-साथ योगी सरकार अर्थव्यवस्था को भी रफ्तार देने में जुटी है.
 
नई गाइडलाइन में उद्योग धंधों और रेहड़ी पटरी वालों के लिए खास तौर पर निर्देश हैं. इसके अलावा धार्मिक स्थल, सिनेमाघर, मॉल, समेत भीड़भाड़ वाली तमाम जगहें पहले की तरह ही फिलहाल बंद रहेंगी. लॉकडाउन के दौरान सरकारी घाटे की भरपाई के लिए भी योगी सरकार ने कई फैसले किए हैं.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close