भोपाल। रिटायर्ड आईएएस की कार को उनकी नौकरानी का बेटा रात के समय घर से चुपचाप लेकर चला जाता था। कार का एक्सीडेंट हुआ, तब उनको शक हुआ कि उनकी नौकरानी का बेटा उनकी कार में रात में दोस्तों के साथ पार्टी उड़ता है और उसकी सेल्फी लेकर वाट्स और फेसबुक पर पोस्ट करता है।

जब एक सेल्फी उनके हाथ लगी, तो उनका शक हकीकत में बदल गया। आईएएस ने इसकी शिकायत बागसेवनिया पुलिस में दर्ज करवा दी है। इधर, आईएएस की नौकरानी ने बेटे को चोरी के आरोप में झूठा फंसाने और पुलिस द्वारा आईएएस द्वारा बेटे से बेरहमी से मारपीट के आरोप लगाए हैं।

जानकारी के अनुसार सागर का मूल रूप से रहने वाला सोहन लाल रजक का 15 वर्षीय बेटा दसवीं क्लास में पढ़ता है। सोहन लाल की पत्नी पार्वती छह साल से रिटायर आईएएस मनीष श्रीवास्तव के विद्या नगर के 126 बी स्थित मकान के सर्वेंट क्वाटर में रहती है। वह उनके घर में साफ सफाई का काम भी करती है।

सोहन लाल का बेटा रात के समय रिटायर आईएएस मनीष श्रीवास्तव की डस्टर कार को लेकर घर से निकल जाता था और रात के समय शहर के सड़को पर दोस्तों को बिठाकर पार्टी करता और घूमता था। देर रात घर पर लाकर वापस घर पर रख देता था।

पहले तो उनको इसके बारे में कुछ पता नहीं चला , लेकिन एक दिन उनकी कार का नौकरानी के बेटे ने बावाड़िया कला में एक्सीडेंट कर दिया और कार को लोकर वैसे ही खड़ा कर दिया। तब भी उनको नौकरानी के बेटे पर शक हुआ था।

एक दिन उनके एक दोस्त ने उनकी कार को नौकरानी के बेटे को चलाते देखा, तो उसकी खिंची हुई सेल्फी भेजी। जब जाकर उनको पता चला कि उनकी नौकरानी का बेटा दोस्तों के साथ सड़को पर उनकी कार से मौजमस्ती करता फिरता है।

उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम की बागसेवनिया थाने में मंगलवार रात को शिकायत दर्ज करवा दी है। पुलिस ने रात में नौकरानी के बेटे सहित उसके दो दोस्तों को हिरासत में ले लिया है।

मां का आरोप पहले साहब ने पीटा फिर पुलिस वालों से पिटवाया

रिटायर आईएएस के यहां काम करने वाली पार्वती रजक ने नवदुनिया को बताया कि उनका बेटा उनकी कार लेकर जाता था। जब साहब को पता चला तो साहब ने पहले खुद कमरे में बंद कर मेरे बेटे को बेल्ट से पीटा।

उसके बाद रात को बागसेवनिया पुलिस में शिकायत करने के बाद उसको गिरफ्तार करवा दिया। जहां पुलिस ने उसको रात और सुबह मारा पीटा। जिसकी उसकी तबियत बिगड़ गई। उसे यहां सहारा अस्पताल विद्या नगर में भर्ती कराया है। जहां उसका उपचार किया जा रहा है।

चोरी की और कार का एक्सीडेंट कर दिया था

रिटायर आईएएस मनीष श्रीवास्तव ने नवदुनिया को बताया कि कई दिनों से उनकी नौकरानी का बेटा उनकी डस्टर कार को घर से चाबी उठाकर निकल जाता था। उसके एक्सीडेंट होने के बाद उसकी मरम्मत पर 30 हजार के करीब खर्च आया।

तब भी पता नहीं चला, जब उसकी सेल्फी मेरे कार के साथ मिली तब पता चला कि यह लड़का उनकी कार को लेकर रात में दोस्तों को बिठाकर मस्ती करता है। अभी कोई एक्सीडेंट में कुछ हो जाए तो क्या होगा। मेरी दो घाड़ियां भी चुराई है। मारपीट के आरोप लगा रहे हैं। जो एक दम झूठे हैं।

पुलिस ने नहीं पीटा, शिकायत पर कार्रवाई

बागसेवानिया टीआई ललित सिंह डांगुर ने बताया कि पूर्व सीनियर आईएएस मनीष श्रीवास्तव ने चोरी की शिकायत की थी। इसमें उनकी नौकरानी के बेटे और उसके दो दोस्तों को हिरासत में लिया गया है। उनके साथ किसी प्रकार की कोई मारपीट नहीं की हैं न हीं वह किसी अस्पताल में भर्ती है। आईएएस श्रीवास्तव के घर से घाड़िया चोरी की है। उसकी जांच की जा रही है।