भोपाल। 'मैडम, अग्रवाल पूड़ी भंडार के कारण मेरे दो बेटों की शादी नहीं हो पा रही है। अब आप ही बताइए मैं क्या करूं। पूड़ी भंडार के एयर कंडीशनर और एग्जॉस्ट फैन की गर्म हवा, घर के सामने फेंके गए कूड़े, कूड़े-करकट की बदबू और खाली शराब की बोतलों को देखकर लड़कों को देखने आने वाले लड़की वाले वापस ही लौट जाते है।'

कुछ इस तरह की गुहार मंगलवार को कलेक्टोरेट में जनसुनवाई के दौरान बुजुर्ग विठ्ठल दास सोनी (70) ने लगाई। उनका कहना है कि चिंतामन चौराहा के समीप स्थित अग्रवाल पूड़ी भंडार उनके घर के सामने ही कूड़ा फेंक रहा है। इतना ही नहीं खाली शराब की बोतलें पड़ी हुई देखकर तो लड़की वाले वापस ही लौट जाते है। घर में भी भंडार से निकलने वाली गंदगी की बदबू आती है। इसके चलते भी लड़की वाले घर तक आने के लिए तैयार ही नहीं होते है। लिहाजा, इस मामले की गंभीरता को देखते हुए एडीएम दिशा नागवंशी ने आयुक्त नगर निगम को जांच के निर्देश दिए है।

तो कभी भी हो सकता है हादसा

विटठल का कहना है कि अग्रवाल पूड़ी भंडार अपने यहां की वेस्टेज सामग्री मेरे घर से सामने ही फेंकते है। पूड़ी भंडार वाले की घर की चौथी मंजिल की छत पर पानी की टंकी है, जिसका पानी नीचे गिरता रहता है। रसोई में दिनभर खाना बनता है तो मेरे घर के सामने होने के कारण मिर्ची की धांस दिनभर घर में बनी रहती है। जिससे घर के अंदर सांस लेना भी दूभर हो गया है। उन्होंने एडीएम को बताया कि अग्रवाल पूड़ी भंडार का भवन वर्षों पुराना है। इसके ऊपर 20 टन का टॉवर लगा हुआ है। 2 टन का जनरेटर भी है। लिहाजा, जर्जर भवन कभी भी गिर सकता है।

मेरे पुत्रों से खाली करा दो मकान

शिवनगर करोंद निवासी अमृत लाल साहू 73 वर्ष अपने दोनों बेटों से परेशान हो गए है। यही वजह है कि मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान उन्होंने एडीएम से गुहार लगाई। उन्होंने जनसुनवाई में कहा कि मेरे दोनों बेटे नर्मदा प्रसाद और मुकेश साहू किराना दुकान चलाते हैं। उन्होंने मुझे घर से बाहर निकाल दिया है और मेरे घर में कब्जा कर लियाहै। जिस घर में उन्होंने कब्जा किया है वह मेरे नाम से है उसकी रजिस्ट्री भी मेरे ही नाम से है।

मेरा स्वास्थ्य बहुत खराब रहता है मैं बीमार आदमी हूं और मेरे बेटों ने मुझे घर से निकाल दिया है। अब मुझे अपने बेटों से कोई मतलब नहीं है आप मुझे मेरा मकान खाली करा दें और कुछ भरण पोषण के लिए भत्ता भी दिला दे ताकि मेरा गुजारा चल सके। एडीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम शहर वृत्त को भरण पोषण के तहत मामला दर्ज कर अमृतलाल साहू को न्याय दिलाने के निर्देश दिए है।

जनुसनवाई में आए 65 मामले

जानकारी के अनुसार मंगलवार को कलेक्टोरेट की जनसुनवाई में करीब 65 प्रकरण आए। जिसमें किसी ने कॉसन मनी वापस न करने पर कालेज के खिलाफ शिकायत की तो किसी ने पुलिस से मदद दिलाने की मांग। सभी मामलों को संबंधित विभागों में भेज दिया गया है।