एक ऒर सूबे के मुखिया शिवराज सिंह अफसरों से परेशान जनता के दुःख से दुखी है वही उनकी इच्छा है की अफसर जनता के इतने नजदीक हो कि जब उनका ट्रांसफर हो तो पब्लिक आंदोलित हो जाये 
जहाँ पूरे प्रदेश में अफसरों की वजह से जनता त्रस्त है वही ऐसे  प्रदेश में ऐसे अधिकारियों की भी कोई कमी नहीं है जो नवाचार प्रस्तुत करते हुए जनता के कामो को बखूबी सहजता से अंजाम दे रहे है इन्ही अधिकारियों में एक  नाम रीवा SDM  नीलमणि अग्निहोत्री का भी है। 
क्या कहा था मुख़्यमंत्री ने 
प्रशासनिक अकादमी के कार्यक्रम में मुख़्यमंत्री का दर्द उनके जुबान में आ  गया अफसर शाही से जनता को   हो रही दिक्कतों से मुख्यमंत्री अनजान नहीं है उन्होंने कहा कि आज के अफसर पब्लिक  को कूड़ा करकट समझते हैं उन्होंने उम्मीद जताई कि अफसर इस तरह काम करें कि जब उनका ट्रांसफर हो तो पब्लिक आंदोलित हो जाये 
       रीवा के SDM कार्यालय में लोग जब पहुंचते है तब हैरान रह जाते है क्योंकि अब उनके कामो को टालमटोल करने या लटकाने वाले बाबू जनता से सहजता से पेश आते है क्योंकि अपना चेंबर छोड़कर SDM उन्ही बाबुओ की किसी कुर्सी पर बैठे मिल सकते है,और लोगों को SDM से मिलने को समय लेने या पर्चियां भेजने की जरुरत ही नहीं पड़ती, SDM नीलमणि अग्निहोत्री जनता से सीधे उनके प्रयोजन के बारे में पूछ सकते है शुरू शुरू में वे अपने चेंबर में बैठते थे पर उन्होंने जब यह महसूस किया कि बाबू उनके नाम का गलत फायदा उठाते है या जनता को दिक्कत होती है तो उन्होंने सीधे बाबुओ के बीच बैठना शुरू कर दिया। अक्सर आफीसर कार्यालयों में नहीं मिलते , पर  अगर वे जरुरी प्रशाशनिक कामों से फील्ड में   नहीं है तो आफिस में उनका मिलना तय है वे देर शाम को भी मिल सकते है और छुट्टी के दिन भी .
कलेक्टर भी कर चुके है तारीफ 
राजस्व प्रकरणों को आजकल RCMS पोर्टल पर दर्ज किया जाता है। उसमे भी हुजूर  SDM की पैंडेंसी जीरो है और इस वजह से कलेक्टर राहुल जैन ने भी उनके कार्यों की तारीफ की है .उन्होंने पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों का  शत प्रतिशत निराकरण कर दिया है