गुड़गांव। साइबर सिटी गुड़गांव में सोमवार को दिनदहाड़े दो बदमाश SBI बैंक की मनी ट्रांसफर ब्रांच में लूट के इरादे से घुस गए। इन्हें क्या पता था कि यहां कोई मर्दानी भी हैं, जो इन्हें जेल की हवा खिलाने तक की हिम्मत रखती हैं। दरअसल बिमला यादव नामक कर्मचारी ने हथियारबंद लुटरों से भिड़ गई और मुकाबला तब तक करती रही, जब तक आसपास के लोग वहां न आ गए।लोगों ने दोनों बदमाशों को पुलिस के हवाले कर दिया।

 इस तरह किया लूट की साजिश को नाकाम...

- प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार दोपहर करीब 1 बजे गुड़गांव के बादशाहपुर कस्बे में इस SBI मनी ट्रांसफर ब्रांच में दिन के करीब एक बजे दो हथियारबंद बदमाश घुसे।
- बड़ी आसानी से ब्रांच में घुसने के बाद कुर्सी पर बैठे और दोनों ने बैग से पिस्टल निकाली, जिसके बाद ब्रांच का दरवाजा बंद कर दिया, ताकि आवाज बाहर ना जा सके।
- ब्रांच मालिक राजू यादव ने बताया कि दोनों काम कर रही दोनों महिलाओं के पास पहुंचे और उनके साथ मारपीट करने लगे। इस बीच मारपीट में सीसीटीवी कैमरों के तार हट गए। दोनों बदमाशों ने दोनों महिला कर्मचारियों को पिस्टलप्वाइंट पर ले लिया। महिलाएं घबराई नहीं बल्कि इनमें से एक बिमला यादव ने पहल की और फिर दूसरी महिला कर्मचारी भी साथ उठ खड़ी हुई, जिसके चलते इन्होंने दोनों बदमाशों की पिस्टल छीन ली और शोर मचा दिया।
- इस बीच शोर सुनकर आसपास के लोग ब्रांच में आ गए और दोनों बदमाशों को धर-दबोचा। ब्रांच के अंदर गुस्साई भीड़ ने दोनों बदमाशों को बुरी तरह पीटा। कोई फ्लैक्स बोर्ड से मारने लगा तो कोई कुर्सी से पिटाई करने लगा।
- घटना की जानकारी पुलिस को लगी तो पुलिस ने मौके पर पहुंच कर दोनों बदमाशों को भीड़ के कब्जे छुड़ाकर हिरासत में लिया। दोनों घायल बदमाशों की पहचान हरियाणा के झोझू कलां निवासी दीपक और मोहित के रूप में हुई है।
 
 
महिलाओं को सम्मानित करेगी पुलिस

 

- गिरफ्तार दोनों युवकों के खिलाफ बादशाहपुर थाने में कई धाराओं में केस दर्ज पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी है। अदालत में पेश करके 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। वहीं दोनों महिलाओं की बहादुरी के के चर्चे दूर-दूर तक फैल गए और जब यह मामला पुलिस कमिश्नर संदीप खिरवार के संज्ञान में आया तो उन्होंने ऐलान किया है कि इन दोनों महिला कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा।