रीवा। आने वाले 4 साल के अंदर रेलवे स्टेशन रीवा जबलपुर मंडल का मेन प्वाइंट स्टेशन बन जाएगा। इसके लिए तेजी से काम किया जा रहा है। ललितपुर-सिंगरौली रेल लाइन तैयार हो जाने के बाद इस स्टेशन का और विस्तार होगा। वार्षिक निरीक्षण पर रीवा पहुंचे पश्चिम मध्य रेल के प्रबंधक गिरीश पिल्लई ने शुक्रवार को स्टेशन का निरीक्षण करने के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि रीवा में अपार संभावनाएं हैं। इसके विस्तार के साथ ही अन्य क्षेत्रों से जोड़ने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सिंगरौली रेल लाइन का काम अगले पांच साल में पूरा कर लिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि यहां तीन नए प्लेटफार्म भी बनाए जाएंगे। जिससे यात्रियों को बेहतर सुविधा मिल सकेगी। जीएम के साथ डीआरएम सुधीर कुमार, आरपीएफ के आईजी आरके मलिक सहित जबलपुर मंडल के अन्य अधिकारी शामिल रहे। लगभग 50 मिनट तक चले निरीक्षण के दौरान रेल अधिकारियों ने न सिर्फ स्टेशन के अंदर बल्कि बाहरी हिस्से का भी निरीक्षण किया।

सुबह 3 बजे पहुंची टीम

रेल महाप्रबंधक और उनकी टीम विशेष ट्रेन से शुक्रवार सुबह लगभग 3 बजे रीवा रेलवे स्टेशन पहुंची थी। महाप्रबंधक श्री पिल्लई सुबह 8.50 पर ट्रेन से बाहर निकले। जहां डीआरएम सहित स्टेशन मास्टर व अन्य अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। आरपीएफ की महिला सलामी गार्ड ने रेल अधिकारियों एवं आरपीएफ आईजी को सलामी दी। इस दौरान एक महिला आरक्षक चक्कर खाकर नीचे गिर गई। जिसे आरपीएफ के जवान उसे अंदर स्टेशन में ले गए।

यहां किया निरीक्षण

जीएम सहित टीम ने सुबह 9 बजे से अपना निरीक्षण प्रारंभ किया। यात्री प्रतीक्षालय का सबसे पहले निरीक्षण करने पहुंचे और यात्री सुविधाओं को लेकर जानकारी ली। इसके बाद रेलवे के सिंगनल कन्ट्रोल रूम और फिर स्टेशन मास्टर कक्ष, रिजर्वेशन काउंटर की जानकारी लेने के साथ नवनिर्मित अतिरिक्त रिजर्वेशन काउण्टर कक्ष का उन्होंने लोकार्पण भी किया। इसके बाद रेलवे स्टेशन के बाहरी हिस्से का निरीक्षण करते हुए पार्किंग स्थल की भी जानकारी ली। इस दौरान प्रबंधक ने रैक प्वाइंट और स्टेशन की सीमा को भी देखा।

सौंपा ज्ञापन

रेल महाप्रबंधक के पहुंचे की सूचना मिलते ही कई लोग स्टेशन पहुंच गए और समस्याओं को लेकर ज्ञापन सौंपा। जिसमें रेलवे लाइन के विस्तार के लिए अधिग्रहित जमीन की मुआवजा राशि दिलाने व जमीन के बदले नौकरी के लिए जहां लोगों ने आवेदन दिया वहीं कई संगठनों ने नई ट्रेन चलाए जाने के लिए ज्ञापन सौंपा है। हालांकि इस दौरान प्रबंधक गिरीश पिल्लई ने बताया कि ट्रेन चलाने के लिए सरकार निर्णय लेती है और उसकी घोषणा होने पर रेलवे मण्डल का काम प्रबंधन का है। जिसके चलते वे नई ट्रेनों को लेकर लोगों को अश्वस्त करते नजर आए।

अपडेट रहीं व्यवस्थाएं

रेलवे मंडल प्रबंधक के वार्षिक निरीक्षण का समय निर्धारित होने के कारण रीवा रेलवे स्टेशन की व्यवस्थाएं अपडेट रहीं। स्टेशन के अंदर और बाहर का हिस्सा जहां दुल्हन की तरह सजा रहा। अंदरूनी हिस्सों को भी चकाचक किया गया था। जैसे ही जीएम का निरीक्षण प्रारंभ हुआ रेलवे के अन्य अधिकारी एक-दूसरे को इशारा कर व्यवस्थाएं बनाने निर्देश देते रहे। बता दें कि प्रबंधक के वार्षिक निरीक्षण के पूर्व के डीआरएम ने लगभग 5 दिन पूर्व स्टेशन में पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया था।