घरों का काम करने वाली लड़की की  पिता की शराब की लत से परेशान माँ  शादी कर देना चाहती थी
जब यह मामला ज़िला पंचायत उपाध्यक्ष के सामने आया तो उन्होंने पढाई से लेकर तमाम जरूरतों को पूरा करने का भरोषा दिया तो बेटी का भी हौसला बढ़ा अब वह पढाई को जारी रखते हुए डॉक्टर बनकर समाज की सेवा करना चाहती हैं दरअसल यह बेटी कक्षा १२ वी की छात्रा हैं और पढ़ाई  को लेकर जुनूनी हैं लेकिन पारिवारिक हालात ने बुरी तरह तोड़ दिया उसकी माँ ज़िला पंचायत उपाध्यक्ष विभा पटेल का घरेलु कामकाज निपटाती हैं वह छह बहनो में सबसे बड़ी हैं पिता मनोज सोंधिया शराब के नशे का आदी हैं जिससे पूरा परिवार तबाह हो रहा हैं एक दिन ऐसा बवाल काटा की माँ सहित बेटियां मदद मागने ज़िला पंचायत उपाध्यक्ष के घर पहुच गयी इसी दौरान माँ सुधा सोंधिया ने बेटी की शादी करने की इच्छा जताते हुए विभा से मदद मांगी पुरे परिवार को बिठाकर उन्होंने समझाइस दी किसी तरह मामला शांत हुआ तो बेटी प्रिया बोली आंटी हमें पढ़ना हैं शादी नहीं करना आप मदद करे यह बात विभा पटेल को दिल में लगी तो उन्होंने पढ़ाई से लेकर प्रिया के तमाम खर्च उठाने का आश्वासन दिया 

इससे चहक उठी प्रिया अब जी तोड़ मेहनत पढ़ाई में कर रही हैं

यह नया जीवनदान हैं ;प्रिया भी काफी खुश नजर आयी उसने कहा यह नया जीवनदान मिला हैं आंटी ने हमारे दर्द को समझा और वे मदद कर रही हैं इसके जरिये वह डॉक्टर बनाने के सपने को पूरा करने के लिए जी जान लगा देगी