रीवा। मप्र की बिजली अन्य राज्यों के लिए भेजी जा रही है। जबकि प्रदेशवासी महंगी बिजली का उपयोग करने के लिए मजबूर हो रहे हैं। सरकार की इस तरह की सोच के चलते विद्युत उपभोक्ता परेशान हैं। सस्ती और 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी ने सोमवार को कलेक्टर कार्यालय के पास एक दिन का धरना आन्दोलन करके ज्ञापन सौंपा है। इस धरना आन्दोलन का अधिवक्ता विजय मिश्रा ने भी समर्थन करते हुए धरने पर बैठे। उन्होंने कहा कि जिस दिल्ली सरकार को मप्र की सरकार बिजली उपलब्ध करा रही है उस दिल्ली सरकार की तुलना में मप्र के उपभोक्ताओं को तीन गुना ज्यादा पर बिजली मिल रही है।

उन्होंने कहा कि सरकार के इस रवैये से आम जनता, किसान और सीधा-साधा उपभोक्ता परेशान हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि कारखानों सहित सत्ताधारी नेताओं के यहां जो मीटर लगाए गए हैं उनके यहां कम खपत वाले मीटर काम कर रहे हैं। जबकि आम उपभोक्ताओं के यहां ज्यादा खपत वाले मीटर लगाकर उपभोक्ताओं को महंगी बिजली दी जा रही है।

ग्रामीण अंचल में भी प्रदर्शन

इसी तरह आम आदमी पार्टी के पदाधिकारियों ने रायपुर कर्चुलियान तहसील कार्यालय में धरना आन्दोलन के साथ ही रैली निकालकर बिजली की अव्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाई। आप नेता राजीव सिंह परिहार व ऋषि कुमार पाण्डेय ने इस दौरान कहा कि मप्र सरकार महंगी बिजली उपभोक्ताओं को दे रही है। उन्होंने रायपुर कर्चुलियान के पहड़िया गांव में लगाए जा रहे कचरा प्लांट को लेकर भी विरोध प्रदर्शन किया और ज्ञापन देकर समस्या से शासन-प्रशासन को अवगत कराया है।

प्रदर्शन में ये रहे मौजूद

इस दौरान ग्राम पंचायत पुरैना के सरपंच शंकरदयाल पाल, बेनीपुरवा के नारेन्द्र सिंह, पहड़िया के जितेन्द्र सिंह, राजेश शुक्ला उर्फ राजा, वंश बहादुर सिंह वहीं आम आदमी पार्टी के प्रदेश सचिव पंकज सिंह पटेल, अमित सिंह, नरेन्द्र द्विवेदी, शिवराज सिंह, हरिगेन्द्र सिंह, राकेश त्रिपाठी, भैय्यामन सिंह, पंकज शर्मा, रामनिहोर रजक सहित ग्रामीणजन मौजूद रहे।

आम आदमी पार्टी ने धरना प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन